script फायदेमंद सर्दी: भीलवाड़ा डेयरी को 15 हजार लीटर दूध की बढ़ी आवक | Bhilwara Dairy news | Patrika News

फायदेमंद सर्दी: भीलवाड़ा डेयरी को 15 हजार लीटर दूध की बढ़ी आवक

locationभीलवाड़ाPublished: Dec 11, 2023 09:05:44 am

Submitted by:

Suresh Jain

मवेशियों को हरा चारा मिलने से आया फर्क
पशुपालकों को भी फायदा, बनाया जा रहा दूध का पाउडर

फायदेमंद सर्दी: भीलवाड़ा डेयरी को 15 हजार लीटर दूध की बढ़ी आवक
फायदेमंद सर्दी: भीलवाड़ा डेयरी को 15 हजार लीटर दूध की बढ़ी आवक

पश्चिमी विक्षोभ के असर के बाद सर्दी के जाजम बिछाते ही पशु पालकों के चेहरे खिले है। इसका कारण दुधारू मवेशियों को इन दिनों खाने में हरा चारा मिलने से दूध का उत्पादन बढ़ गया है। इसका असर भीलवाड़ा डेयरी पर आया है।

जिले में इस समय प्रतिदिन करीब 15 हजार लीटर दूध का उत्पादन बढ़ा है। इससे डेयरी में प्रतिदिन 3.50 लाख लीटर दूध की आवक हो रही है। पशु पालकों को भी फायदा हुआ है। दूध का उत्पादन 15 जनवरी तक बढ़कर लगभग 4 लाख लीटर होने की संभावना है। डेयरी ने भी बढ़ती आवक को देखते हुए आपूर्ति की योजना बनाई है। यहां आने वाले 3.50 लाख लीटर दूध में से 2.15 लाख लीटर जिले में आपूर्ति की जा रही है। जबकि एक लाख लीटर से अधिक दूध का पाउडर बनाया जा रहा है।

इसलिए बढ़ रहा दूध का उत्पादन
पशु चिकित्सक महेश काष्ट ने बताया कि इन दिनों हरा चारे काफी मात्रा में हो रहा है। पशुपालको की ओर से मवेशी को इसका सेवन कराने से दूध का उत्पादन बढ़ रहा है। इसके अलावा बांटा भी खिलाया जा रहा है।


सेना के लिए तैयार हो रहा डब्लूएमपी पाउडर
भीलवाड़ा डेयरी लगभग एक लाख लीटर दूध से हॉल मिल्क पाउडर (डब्लूएमपी) बना रही है। इस पाउडर में तीन प्रतिशत फैट अधिक मात्रा में होता है, जो सेना के जवानों के लिए तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा बिना फैट वाला पाउडर एसएमपी भी बनाया जा रहा है। यह पाउडर स्कूलों में सप्लाई किया जाता है। भीलवाड़ा डेयरी अब तक 400 टन पाउडर की सप्लाई सेना को कर चुकी है। जबकि 500 टन पाउडर और सेना को भेजने की तैयारी है।


सर्दी में भी तैयार हो रही आइसक्रीम
भीलवाड़ा डेयरी सर्दी के इस मौसम में भी 5 हजार लीटर दूध से आइसक्रीम बना रही है। इसकी खपत जयपुर को छोड़कर प्रदेश के सभी जिलो में हो रही है। ये पहला मौका है जब सरकार की किसी यूनिट दूध, दही, पनीर के बाद लोगों के लिए आइसक्रीम तैयार कर रही। सरस के आउटलेट्स व बाजार में भी आइसक्रीम उपलब्ध है।


दूध की आवक बढ़ी है
पिछले कुछ दिनों से दूध की आवक बढ़ी है। इसके पीछे मुख्य कारण गत दिनों बारिश होने तथा हरा चारा मिलने से मवेशियों इसे खा रहे। आने वाले दिनों की दूध का उत्पादन और बढ़ेगा। डेयरी में अभी 3.50 लाख लीटर दूध आ रहा जो बढ़कर 4 लाख हो जाएगा। डेयरी प्लांट की क्षमता 5 लाख लीटर प्रतिदिन दूध की है।
- एके गर्ग, विक्रय प्रबंधक, भीलवाड़ा डेयरी

फैक्ट फाइल
1100 दूध समितियां

310 समितियों में लगी बीएमसी
77 हजार पशुपालक है जिले में

3.50 लाख लीटर दूध का आवक प्रतिदिन

ट्रेंडिंग वीडियो