scriptरीको को मिली 1292 बीघा जमीन, 5.40 करोड़ रुपए कराए जमा | मेमू कोच फैक्ट्री के लिए आरक्षित जमीन टेक्सटाइल पार्क को आवंटित प्रदूषण करने वाले उद्योग व इकाइयां पर रहेगा प्रतिबंध | Patrika News
भीलवाड़ा

रीको को मिली 1292 बीघा जमीन, 5.40 करोड़ रुपए कराए जमा

मेमू कोच फैक्ट्री के लिए आरक्षित जमीन टेक्सटाइल पार्क को आवंटित
प्रदूषण करने वाले उद्योग व इकाइयां पर रहेगा प्रतिबंध

भीलवाड़ाJul 05, 2024 / 11:37 am

Suresh Jain

मेमू कोच फैक्ट्री के लिए आरक्षित जमीन टेक्सटाइल पार्क को आवंटित प्रदूषण करने वाले उद्योग व इकाइयां पर रहेगा प्रतिबंध

मेमू कोच फैक्ट्री के लिए आरक्षित जमीन टेक्सटाइल पार्क को आवंटित प्रदूषण करने वाले उद्योग व इकाइयां पर रहेगा प्रतिबंध

भीलवाड़ा राज्य सरकार के आदेश पर भीलवाड़ा रीको को 1292.14 बीघा जमीन का आवंटन हो गया है। रीको ने इसके 5.40 करोड़ रुपए जमा करा दिए। अब कलक्टर जमीन का आवंटन पत्र जारी करेंगे। यह प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही जिले की हुरड़ा तहसील में टेक्सटाइल पार्क के लिए जमीन तैयार होगी।
राजस्व (ग्रुप-3) विभाग के शासन उप सचिव बिरदीचंद गंगवाल ने गत दिनों टेक्सटाइल पार्क के लिए जमीन आवंटन का पत्र जारी किया था। इस आधार पर कलक्टर (राजस्व) ने रीको को पत्र लिख 5.40 करोड़ रुपए का डिमांड नोटिस जारी किया। रीको क्षेत्रीय प्रबन्धक पीआर मीणा ने बताया कि डिमांड नोटिस के आधार पर 2 जुलाई को राशि जमा करा दी है।
ये मिली जमीन

मीणा ने बताया कि हुरड़ा के रूपाहेली, चतरपुरा, सुल्तानपुरा, बड़ला के कुल किता 37 की कुल रकबा 1292.14 बीघा जमीन पहले मेमू कोच फैक्ट्री निर्माण के लिए रेलवे मंत्रालय को आवंटित की थी। रेलवे ने प्रस्तावित परियोजना स्थापित करने का कार्य ड्रॉप कर दिया। इस भूमि को औद्योगिक प्रयोजनार्थ आरक्षित कर राजस्थान भू-राजस्व (औद्योगिक क्षेत्र आवंटन) नियम, 1959 के नियम-11ए के तहत नवीन औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने के लिए रीको को भूमि आवंटन की गई।
इन शर्तों की करनी होगी पालना

  • आदेश के अनुसार आबादी की बाहरी सीमा से डेढ किमी के अर्द्धव्यास के भीतर आने वाली भूमि में बिना प्रदूषण वाले उद्योग स्थापित होंगे।
  • प्रस्तावित भूमि में शामिल रास्तों का उपयोग सड़क के रूप में होगा। किसी हितधारी का मार्गाधिकार बाधित नहीं किया जाएगा।
  • प्रस्तावित भूमि के मध्य प्रचलित रास्ते तथा राजस्व रिकाॅर्ड में दर्ज ग्रामीण रास्ते जो गांवों या सार्वजनिक स्थानों पर जाते हैं, उनके मध्य से 100 फीट के भीतर आने वाली भूमि में उद्योगों को आवंटित नहीं होगी।
  • आवंटित भूमि से लगती बाहरी सड़कों, रेलवे लाइन आदि के प्रचलित नियमों के अनुसार भूमि छोडकर ही उद्योगों को रीको जमीन देगा।
  • जिला प्रशासन की ओर से चरागाह की क्षतिपूर्ति के लिए जारी आदेश में शामिल रास्ते की भूमि को छोड़ते हुए समान क्षेत्रफल की अन्य सिवायचक भूमि से क्षतिपूर्ति को स्वयं के स्तर पर संशोधित किया जाएगा। इसे राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज करना होगा।
  • आवंटित भूमि का उपयोग आवंटन नियम में समयावधि में करना होगा। अन्यथा भूमि को पुन: सरकार ले लेगी।
पांच हजार को रोजगार
मेवाड़चैम्बर के महासचिव आरके जैन ने बताया कि टेक्सटाइल पार्क के लिए जमीन मिलने से स्पिनिंग मिल में कम से कम 6 लाख नए स्पिंडल लग सकते हैं। इससे धागे का उत्पादन बढ़ेगा। 8 से 10 डेनिम प्लांट व रेडिमेड गारमेंट क्लस्टर का रास्ता साफ होगा। रेडिमेड गारमेंट सेक्टर में कम से कम 5 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

Hindi News/ Bhilwara / रीको को मिली 1292 बीघा जमीन, 5.40 करोड़ रुपए कराए जमा

ट्रेंडिंग वीडियो