बसपा विधायक रामबाई बोलीं- मेरे पति दोषी हुए तो मैं इस्तीफा दे दूंगी

देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड मामले में बसपा विधायक रामबाई अपने पति को बता रही हैं निर्दोष

By: Muneshwar Kumar

Published: 20 Jul 2019, 06:47 PM IST

भोपाल. बसपा विधायक रामबाई ( bsp mla rambai ) अपने पति गोविंद सिंह को लेकर विवादों में हैं। गोविंद सिंह पर हत्या का आरोप है। विधायक पत्नी रामबाई ( Rambai Husband ) इससे साफ इनकार कर रही हैं। शनिवार को उन्होंने विधानसभा ( Madhya Pradesh assembly ) में कहा कि कौन कहा रहा है कि वो आरोपी हैं। मेरा भी उसमें नाम है। मृतक चौरसिया के परिजनों ने कई लोगों का नाम लिया है। पुलिस ( Madhya Pradesh police ) ने एकतरफा जांच की। जब मैंने फिर से आवेदन दिए तो मेरे पति निर्दोष पाए गए। कुछ दिन बाद देवर भी निर्दोष साबित होंगे।

 

रामबाई बोलीं कि देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड मामले में पुलिस प्रशासन ने पूरी जांच गड़बड़ की है। अगर पीड़ित परिवार को लगता है तो सीबीआई जांच करवा ले या फिर नार्कों टेस्ट करवा ले। क्यों नहीं ऐसा लोग करवा रहे हैं। रामबाई ने कहा कि मैं सच्चाई पर लड़ती हूं। मुझे ऐसी राजनीति नहीं करनी है कि मेरे पति और देवर हत्या करते फिरे। अगर वे लोग दोषी सिद्ध हो जाएंगे तो मैं खुद उन्हें चौराहे पर फांसी दे दूंगी।

इसे भी पढ़ें: बसपा विधायक रामबाई के पति पर आखिर क्यों मेहरबान है मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार?

 

मेरे पति जेल में थे बंद
बसपा विधायक बोलीं कि मेरे पति जेल में बंद थे और बाहर गोली चली रही थी। उस घटना में मेरे पति का नाम लिया जा रहा है। मेरे पति पर सत्र केस लगे थे। जैसे आज झूठे केस लगे हैं, उसी तरह बीजेपी के शासन में झूठे केस लगे थे। रामबाई ने कहा कि मैं आपको प्रमाण दूंगा कि मेरे पति जेल में बंद हैं। फिर वो बाहर गोली कैसे चला सकते हैं। अगर वो गोली चला सकते हैं तो फिर जेलर और पुलिसकर्मी को भी सस्पेंड करो। तब तो उसमें सबकी मिली भगत होगी।

इसे भी पढ़ें: बसपा विधायक के पति को बचाने में जुटी है कांग्रेस सरकार?

 

पति का नाम नहीं है उसमें
रामबाई ने कहा कि पति जब मेरे साथ विधानसभा दिखे तो लोगों ने सवाल उठाए। लेकिन उस केस से उनका नाम हट गया है। मीडियाकर्मियों को सलाह देते हुए कहा कि जब आपलोग सब कुछ पता लगा लेते हैं तो फिर इस मामले की जानकारी भी ले लेते। लेकिन सवाल है कि जब गोविंद सिंह जेल में बंद थे तो पुलिस ने उन्हें फरार घोषित क्यों किया।


इसे भी पढ़ें: जिसे ढूंढ रही है मध्यप्रदेश पुलिस, वो शान से विधानसभा में घूम रहा है विधायक पत्नी के साथ

 

इस्तीफा दे दूंगा
विधायक रामबाई ने यह भी कहा कि अगर मैं जो बात कह रही हूं, वो गलत साबित हुआ तो मैं इस्तीफा दे दूंगी। अगर मेरे पति इस मामले में दोषी हुए तो मैं आपको लोगों के सामने ही आकर इस्तीफा दे दूंगी। रामबाई बोलीं कि चौरसिया परिवार से पैसे लेकर पुलिस प्रशासन ने अन्याय की। अब न्याय हो रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: विधायक पत्नी के साथ विधानसभा में घूमता रहा कांग्रेस नेता की हत्या का आरोपी, गृह मंत्री बोले- मालूम नहीं

 

कमलनाथजी के साथ रहूंगी
वहीं, सरकार से समर्थन वापस लेने की बात पर रामबाई बोलीं कि कमलनाथ जी के साथ थी, हूं और रहूंगी। चाहे वो अन्याय करें या फिर अत्याचार करें। दरअसल, मध्यप्रदेश में कांग्रेस के पास बहुमत नहीं है। बसपा के तीन विधायक कांग्रेस सरकार के समर्थन में हैं।

Show More
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned