पूर्व CM दिग्विजय सिंह बोले- कांग्रेस आई तो जम्मू कश्मीर में लगी धारा 370 हटा देंगे, शिवराज के मंत्री ने बताया- 'देशद्रोह'

जम्मू-कश्मीर की धारा 370 को लेकर अब मध्य प्रदेश की सियासत गरमा गई है। धारा 370 को लेकर अब मध्य प्रदेश भाजपा और कांग्रेस आमने सामने आ गई है। दिग्विजय के बयान पर विश्वास सारंग ने उसे देशद्रोह बताया है।

By: Faiz

Updated: 12 Jun 2021, 01:29 PM IST

भोपाल/ जम्मू-कश्मीर की धारा 370 को लेकर अब मध्य प्रदेश की सियासत गरमा गई है। धारा 370 को लेकर अब मध्य प्रदेश भाजपा और कांग्रेस आमने सामने आ गई है। एक तरफ जहां पूर्व मुख्यमंत्री, राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने जम्मू-कश्मीर में लगाई गई धारा 370 को गैर जरूरी और अन्याय पूर्ण बताते हुए कांग्रेस की सरकार बनने पर धारा 370 को एक बार फिर लाने की बात कही है, तो वहीं दिग्विजय के इस बयान पर भाजपा की भी सख्त प्रतिक्रिया सामने आई है। शिवराज सरकार के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने उनके इस बयान को देश से गद्दारी करार देते हुए उसे देशद्रोह बताया है।

 

पढ़ें ये खास खबर- 'बिजली के खंभों से ज्यादा खतरनाक हैं टीका न लगवाने वाले', पुलिस ने खोजा वैक्सीनेशन की जागरूकता लाने का अनोखा तरीका

चैट को लेकर शुरु हुआ विवाद

बताया जा रहा है कि, ये सारा विवाद क्लब हाउस पर हुए एक ऑडियो चेट के सामने आने के बाद खड़ा हुआ है। दावा है कि, इस चैट में एक पाकिस्तानी पत्रकार भी जुड़ा हुआ था। इस दौरान दिग्विजय ने कहा कि, 'मुस्लिम बाहुल राज्य में एक हिंदू राजा था। दोनों ने साथ काम किया। कश्मीर में सरकारी सेवाओं में कश्मीरी पंडितों को आरक्षण दिया गया था। इसलिए अनुच्छेद-370 को रद्द करना और जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा कम करना अत्यंत दुखद निर्णय है। हमें निश्चित रूप से इस मुद्दे पर फिर से विचार करना होगा। इसे फिर से लाएंगे।'

 

पढ़ें ये खास खबर- कितने शातिराना ढंग से चोरी को अंजाम देते हैं चोर, CCTV में रिकॉर्ड हुई वारदात


विरोध मेंआई भाजपा

दिग्विजय सिंह के इस ऑडियो के सामने आने के बाद बीजेपी में जमकर जमकर विरोध शुरु हो गया है। मंत्री विश्वास सारंग ने दिग्विजय के इस बयान को देश के साथ गद्दारी बताते हुए कहा- दिग्विजय ने जिस तरह क्लब हाउस में पाकिस्तानी पत्रकारों के बीच धारा 370 के बारे में टिप्पणी की वह देशद्रोह की श्रेणी में आता है। उन्होंने कहा, दिग्विजय और कांग्रेस भारत को लगातार अंतरराष्ट्रीय मंच पर बदनाम करने में जुटे हुए हैं। उन्होंने सख्त लफ्जों में कहा कि, कश्मीर भारत का था, है और भारत का ही रहेगा। दिग्विजय जैसे कितने ही नेता जन्म ले लें, कश्मीर में आर्टिकल 370 वापस नहीं ली जाएगी। दिग्विजय और कांग्रेस को अल्टीमेटम देता हूं, अगर इस देश को तोड़ने की कोशिश करेंगे, तो उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

 

कोरोना वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब - जानें इस वीडियो में

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned