इंजीनियर नोटिस देकर बंद करा रहे अवैध निर्माण की शिकायतें

इंजीनियर नोटिस देकर बंद करा रहे अवैध निर्माण की शिकायतें
इंजीनियर नोटिस देकर बंद करा रहे अवैध निर्माण की शिकायतें

Rohit Prasad Verma | Updated: 09 Oct 2019, 11:47:43 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

भवन अनुज्ञा शाखा के अधिकारियों का कारनामा

भोपाल. उपनगर में अवैध निर्माणों और सरकारी जमीन पर कब्जों को नगर निगम की भवन अनुज्ञा शाखा के इंजीनियर ही बढ़ावा दे रहे हैं। सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों और उन पर किए दिखावटी निराकरण देखकर तो ऐसा ही लग रहा है।

गौरतलब है कि शहर में अवैध निर्माण लगातार बढ़ रहे हैं, उनकी शिकायतें भी हो रही हैं, लेकिन भवन अनुज्ञा के इंजीनियर झूठे निराकरण से शिकायतें बंद करा रहे हैं। चीफ सिटी प्लानर एसके राठौर का कहना है कि स्थानीय स्तर पर इंजीनियर ही रिपोर्ट देते हैं। इसकी समीक्षा कर ली जाएगी, जिससे स्थिति स्पष्ट हो जाए।

 

ऐसे समझे कैसे बढ़ावा दे रहे अवैध निर्माण को
शिकायतकर्ता मोहम्मद मसीर खान ने वार्ड 82 में सरकारी जमीन पर अवैध अपार्टमेंट बनाने की शिकायत। मामले की एक अन्य शिकायत को ये कहकर बंद कर दिया था कि निर्माण रुकवा दिया, पर निर्माण जारी है। भवन अनुज्ञा शाखा इंजीनियर ने ये बंद कराई थी। इस शिकायत को भी बंद कर दिया। मामले में निगम की ओर से नगर पालिका को नोटिस जारी किए गए फिर भी कुछ नहीं किया गया।

वार्ड 81 में फर्जी दस्तावेजों से कब्जा कर मकान बनाया जा रहा है। इसमें निगम की भवन अनुज्ञा शाखा ने जांच की और रिपोर्ट दी कि भूमि स्वामित्व संबंधित दस्तावेज तो मिल गए, लेकिन निर्माण अनुमति नहीं दी गई।

 

इस पर इसे अवैध मानते हुए इसे हटाने के लिए नगर पालिक निगम अधिनियम 1956 की धारा 307 दो के तहत नोटिस दिया। इसके बाद शिकायत बंद कर दी गई।

वार्ड 83 में सीआई स्क्वायर के सामने 25 से अधिक दुकानें बना ली गईं। इनकी शिकायत की गई। शिकायत करता राजीव कुमार की शिकायत पर निगम ने नोटिस जारी किए, दुकानों के निर्माण को खुद के स्तर पर हटाने के निर्देश दिए। स्थिति ये है कि दुकानों का निर्माण शुरू हुआ तब शिकायत की थी, लेकिन निर्माण पूरा होकर दुकानें खुल जाने के बाद तक कार्रवाई नहीं की गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned