scriptKnow when the third wave will be controlled | मौतों और केसों का बढ़ता ट्रेंड, जानिए कब कंट्रोल होगी कोरोना की तीसरी लहर | Patrika News

मौतों और केसों का बढ़ता ट्रेंड, जानिए कब कंट्रोल होगी कोरोना की तीसरी लहर

कोरोना से हो रही मौतों और नए केसों के इस बढ़ते ट्रेंड के बीच सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कब तक इस खौफ के साथ जीना होगा!

भोपाल

Published: January 25, 2022 04:01:23 pm

भोपाल. देश के साथ ही मध्यप्रदेश में भी कोरोना की तीसरी लहर चरम पर है. पिछले पांच दिनों से प्रदेश में 10 हजार से ज्यादा केसेस मिल रहे हैं. कोरोना से मौतों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है. कोरोना से हो रही मौतों और नए केसों के इस बढ़ते ट्रेंड के बीच सवाल उठ रहे हैं कि आखिर कब तक इस खौफ के साथ जीना होगा! इस संबंध में डॉक्टर्स और एक्सपर्ट ने कुछ खुलासा किया है.

covid.png

एक ताजा रिपोर्ट में मध्यप्रदेश के लिए स्टडी में दावा किया गया है कि प्रदेश के इंदौर और भोपाल में कोरोना का पीक आनेवाला है. आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर की इस स्टडी में बताया गया है कि प्रदेश में 30 जनवरी से 2 फरवरी के बीच कोरोना की तीसरी लहर का पीक आ सकता है.

यह भी पढ़ें : कोरोना का खतरनाक साइड इफेक्ट, हर तीसरा बच्चा प्रभावित, जानिए क्या कह रहे डॉक्टर्स

इस अवधि में प्रदेशभर में रोज 13 से 14 हजार नए केसेस सामने आने की संभावना व्यक्त की गई है. गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर में भी पीक के दौरान अधिकतम 13 और 14 हजार केसेस सामने आए थे.

यह भी पढ़ें : ओमिक्रोन का ये है सबसे पहला लक्षण, दिखे तो तुरंत हो जाएं सावधान

इससे पहले आईआईटी कानपुर के ही एक प्रोफेसर ने भी यह कहा था कि उनके हिसाब से मध्यप्रदेश में अगले 4—5 दिनों में पीक आ जाना चाहिए. उनका कहना है कि मध्यप्रदेश में अभी बिल्कुल वैसी ही स्थिति है जैसी दूसरी लहर के पीक के 11 दिन पहले थी. संक्रमण की तेज स्पीड के कारण उन्होंने 28 जनवरी तक पीक आने की बात कही थी.

यह भी पढ़ें : बेहद खतरनाक है ओमिक्रोन, इस अंग को कर रहा खराब, जानिए कैसे करें बचाव

omicron2.pngनई स्टडी के अनुसार मध्यप्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर फरवरी के दूसरे सप्ताह से कंट्रोल में आना शुरु हो जाएगी. हालांकि इसके लिए प्रदेश में टेस्ट बढ़ाने के प्रयास भी करने होंगे. स्टडी के अनुसार तीसरी लहर के पीक में भी कोरोना संक्रमण का हाल कमोबेश दूसरी लहर की पीक जैसा ही रहेगा.
यह भी पढ़ें :कई टेस्ट में भी पकड़ में नहीं आता BA 2 स्ट्रेन, जानिए क्यों खतरनाक है ओमिक्रान का ये सब वेरिएंट

भोपाल के डा. केवी दीवान ने भी यही बात कही. उनका कहना है कि संक्रमण तेजी से फैल रहा है. जरा सी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है पर सतर्क बने रहे तो स्थिति जल्द ही सामान्य भी होने लगेगी. संक्रमण पर रोक लगा सके तो 8—9 फरवरी से यह समय प्रारंभ हो सकता है. गौरतलब है कि देश के कई बड़े शहरों में कोरोना की तीसरी लहर पीक को पार कर चुकी है.
यह भी पढ़ें : जानलेवा लहर- केस कम हुए पर बढ़ गई मौतें, जानिए अब तक कितने लोगों को शिकार बना चुका कोरोना

प्रदेश में चिंता इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि यहां कोरोना के नए वैरिएंट BA.2 के मरीज भी मिल रहे हैं. इंदौर में कोरोना के इस नए वैरिएंट के 16 मरीजों में 6 बच्चे भी शामिल हैं. संक्रमितों के फेफड़े पर खराब असर पड़ता देखा जाने लगा है. नए वैरिएंट को लेकर एक्सपर्ट का कहना है कि फिलहाल ऐहतियात बरतने की सख्त जरूरत है.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

श्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिटमनी लान्ड्रिंग मामले में फारूक अब्दुल्ला को ED ने भेजा समन, 31 मई को दिल्ली में होगी पूछताछ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.