मध्य प्रदेश में इन जिलों को छोड़कर 17 मई के बाद भी नहीं खुलेगा कोरोना कर्फ्यू, सीएम शिवराज ने दिए संकेत

जनता के नाम संदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, जिन जिलों में पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे है, वहां 17 मई के बाद कोरोना कर्फ्यू को हटाया जा सकेगा।

By: Faiz

Published: 13 May 2021, 11:28 AM IST

भोपाल/ मध्य प्रदेश में कोरोना से उत्पन्न हुईं स्थितियां अब दौबारा से नियंत्रित होनी शुरु हुई हैं। लेकिन, इसे सुधार नहीं माना जा सकता। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को प्रदेश की जनता के नाम संदेश देते हुए कोरोना कर्फ्यू को बढ़ाए जाने के संबंध में भी संकेत दे दिये हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- पूर्व CM कमल नाथ और सांसद नकुल नाथ ने जिले को दिये 15 वेंटिलेटर, टूटती सांसों को मिलेगा सहारा


17 मई के बाद इन जिलों में खोला जा सकेगा कोरोना कर्फ्यू

जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि, अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार अगर पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से कम है, तो ये कोरोना संक्रमण के नियंत्रणमें आने के संकेत हैं। सीएम ने आगे कहा कि, प्रदेश के वो जिले, जहां कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से नीचे आ गया है, वहां 17 मई के बाद धीरे-धीरे वैज्ञानिक ढंग से कोरोना कर्फ्यू को हटाने की व्यवस्था की जा सकेगी। सीएम ने आगे कहा कि, जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से अधिक है, वहां कोरोना कर्फ्यू नहीं खोला जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- ब्लैक फंगस से लड़ाई की तैयारी : MP के इन शहरों में बनेंगी देश की पहली 'म्यूकर माइकोसिस यूनिट', अमेरिका से लेंगे मदद


क्या हैं जिलों के हालात?

आपको बता दें कि, मौजूदा समय में प्रदेश के सभी जिलों के आंकड़ों पर गौर करें, तो सिर्फ चार जिले, जिनमें खंडवा, भिंड, बुरहानपुर और छिंदवाड़ा ही ऐसे हैं, जहां का अब पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से नीचे आ पहुंचा है। इसके अलावा कुछ जिले तो ऐसे भी हैं, जहां पॉजिटिविटी रेट 20 से अधिक है। सूबे के रतलाम का पॉजिटिविटी रेट बुधवार को 26 फीसदी आंका गया है। वहीं, राजधानी भोपाल का पॉजिटिविटी रेट 22 फीसदी है। ऐसे में अगर कोरोना कर्फ्यू 5 फीसदी से कम पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों का ही खोला जाएगा, तो इसमें फिलहाल, तो समय लगेगा।


सीएम शिवराज की जनता से अपील

जनता के नाम संदेश में मुखयमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों से कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करने की अपील की है। सीएम ने कहा कि, संक्रमण की रोकथाम के लिये व्यापक ढंग से जन-सहयोग मिल रहा है। कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन होने से कोरोना महामारी धीरे-धीरे नियंत्रण में आने लगी है। कोरोना के नए संक्रमित प्रकरणों की संख्या प्रदेश में अब चार अंकों में आने लगी है, जो पिछले दिनों तक पांच अंकों में चल रही थी। कोरोना संक्रमण की रफ्तार के मामले में मध्य प्रदेश देशभर के सभी राज्यों में 15वें स्थान पर है।


32 दिन के कोरोना कर्फ्यू मेंं 25 से घटकर 14 फीसदी हुआ पॉजिटिविटी रेट

प्रदेश में 32 दिन में पॉजिटिविटी रेट 25% घटकर 14% हो गया है। सबसे अधिक पॉजिटिविटी रेट 19 अप्रैल को 25% दर्ज किया गया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें निश्चिंत नहीं होना है। अभी अधिक सावधानी की जरूरत है। कोरोना संक्रमण को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए लंबा सफर तय करना है।

 

पढ़ें ये खास खबर- Patrika Positive : 14 दिन पहले कोरोना से मां को खोया, खुद भी संघर्ष कर हुए स्वस्थ, अब प्लाज़्मा देकर बचाई 2 लोगों की जान


मध्य प्रदेश के बड़े शहर वाले जिलों का पॉजिटिविटी रेट

-इंदौर : 17 फीसदी
-भोपाल : 22 फीसदी
-ग्वालियर : 23 फीसदी
-जबलपुर : 18 फीसदी


सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट

-सीधी : 27 फीसदी
-दतिया : 26 फीसदी
-रतलाम : 26 फीसदी
-दमोह : 26 फीसदी


5 फीसद से कम पॉजटिविटी रेट वाले जिले

-छिंदवाड़ा : 4 फीसदी
-भिंड : 4 फीसदी
-बुरहानपुर : 4 फीसदी
-खंडवा : 5 फीसदी

 

कोरोना वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब - जानें इस वीडियो में

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned