scriptmukhyamantri teerth darshan yojana start again from 19 april 2022 | अप्रैल माह की इस तारीख से शुरु हो रही है 'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना', आज ही करें रजिस्ट्रेशन | Patrika News

अप्रैल माह की इस तारीख से शुरु हो रही है 'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना', आज ही करें रजिस्ट्रेशन

19 अप्रैल से एक बार फिर मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना की शुरुआत होने जा रही है। इस बार तीर्थ दर्शन पर जाने की चाहत रखने वाले यात्री 7 अप्रैल यानी कल तक आवेदन कर सकते हैं।

भोपाल

Published: April 06, 2022 09:54:30 am

भोपाल. मध्य प्रदेश में आगामी 19 अप्रैल से एक बार फिर मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना की शुरुआत होने जा रही है। इस बार तीर्थ दर्शन पर जाने की चाहत रखने वाले यात्री 7 अप्रैल यानी कल तक आवेदन कर सकते हैं। पहली यात्रा काशी विश्वनाथ दर्शन के लिए रवाना होगी। ट्रेन में भजन मंडली भी शामिल होगी, जो दिन में दो बार यात्रा पर निकले लोगों को भजन सुनाने का कार्य करेगी।
News
अप्रैल माह की इस तारीख से शुरु हो रही है 'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना', आज ही करें रजिस्ट्रेशन

आदि गुरू शंकराचार्य की ओर से शुरू की गई तीर्थाटन संस्कृति को आगे बढ़ाने का संकल्प मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा लिया गया है। हम सभी को तीर्थ यात्रियों को प्रेम और आत्मीयता से तीर्थ यात्रा करानी है। यह बात संस्कृति, पर्यटन और धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री उषा ठाकुर ने मंत्रालय में मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के दोबारा शुरु होने के संबंध में बताते हुए कही। मंत्री ठाकुर ने कहा कि तीर्थ यात्रा 19 अप्रैल को रानी कमलापति रेलवे स्टेशन से शुरु होगी, जो सागर से होते हुए बनारस पहुंचेगी।
यह भी पढ़ें- दिग्विजय बोले- मोदी जी 1 रुपए देकर जनता से 10 ले लेते हैं, विरोध करो तो कहा जाता है- हिंदू धर्म खतरे में है


इन जिलों के तीर्थ यात्री रानी कमलापति स्टेशन से शुरु करेंगे यात्रा
तीर्थदर्शन यात्रा में राजधानी भोपाल के अलावा सीहोर, रायसेन, विदिशा, सागर, टीकमगढ़ और दमोह जिले के तीर्थ यात्री शामिल होगें। सीहोर एवं रायसेन जिले के यात्रियों का बोर्डिंग भोपाल (रानी कमलापति) स्टेशन होगा और सागर स्टेशन पर सागर, टीकमगढ़ और दमोह जिले के तीर्थ यात्री ट्रेन में बैठकर रवाना होंगे।

यात्रियों को स्टेशन तक पहुंचाने की व्यवस्था करेगा प्रशासन

जिलों से तीर्थ-यात्रियों को स्टेशन लाने की सुविधा जिला प्रशासन द्वारा की जाएगी। यात्रा के लिए 60 वर्ष या उससे अधिक आयु (महिलाओं के लिए 02 वर्ष छूट) के नागरिक अपने निकटतम तहसील, स्थानीय निकाय, जनपद कार्यालयों में आवेदन कर सकते हैं। यात्रा का संचालन आकर्षक और प्रेरक तरीके से किया जाएगा।

12 अप्रैल तक पूरी होगी दस्तावेजी कार्यवाही

मंत्री उषा ठाकुर ने बैठक के दौरान ये भी कहा कि, जिलों में यात्रा का व्यापक प्रचार प्रसार करते हुए 7 अप्रैल तक आवेदन लें। आवेदनों की स्क्रूटनी करते समय विधानसभावार यात्रियों के समान प्रतिनिधित्व का ध्यान रखें। चयनित आवेदनों को 12 अप्रैल तक आईआरसीटीसी के संबंधित अधिकारी को प्रेषित करें, जिससे यात्रियों के आईडी कार्ड समय पर आईआरसीटीसी से जिलों को प्राप्त हो सके। आईडी कार्ड में यात्री का नाम, उम्र, कोच नंबर और सीट नंबर का स्पष्ट रूप से उल्लेखित हो।

मंत्री करेंगी तीर्थ यात्रियों की सेवा

मंत्री ठाकुर ने बताया कि, काशी विश्वनाथ तीर्थयात्रा के दौरान वो भी सरकार की तरफ से यात्रियों के जत्थे में शामिल होकर उनकी सेवा करेंगी। मंत्री ठाकुर ने अधिकारियों से कहा कि, इसी योजना में बुजुर्गो के आशीर्वाद से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान श्रवण कुमार के नाम से जाने जाते हैं। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना को सार्थकता के चरम तक पहुंचाएं, जिससे प्रदेश का मान बढ़े और हमें बुजुर्गों का आशीर्वाद मिल सके।
दूसरी बार नर्मदा परिक्रमा पर निकले सलीम पठान, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई एयरपोर्ट पहुंचेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनKangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोलाUdaipur Murder: उदयपुर में हिंदू संगठनों का जोरदार प्रदर्शन, हत्यारों को फांसी दो के लगे नारे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.