बड़ी राहतः कोविड मरीजों का मुफ्त इलाज होगा, शिवराज सरकार का बड़ा एक्शन

ayushman bharat niramayam yojna: 'पत्रिका' फिर बना प्रदेश की आवाज, पत्रिका की खबर के बाद शिवराज सरकार ने लिया बड़ा फैसला...।

By: Manish Gite

Published: 07 May 2021, 11:34 AM IST

भोपाल. पत्रिका फिर जनता की आवाज बना है। कोरोना काल में आर्थिक मार से जूझ रहे लोगों को मुफ्त इलाज देने की पत्रिका की खबर पर सरकार ने तत्काल एक्शन लेते हुए 'आयुष्मान भारत निरामयम योजना' (ayushman bharat niramayam yojna) लागू करने का ऐलान किया है। इसमें सीटी स्कैन समेत अन्य जांचें मुफ्त होंगी। दवाएं, रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन का भी शुल्क नहीं लगेगा।

आयुष्मान भारत निरामयम

नई योजना शुक्रवार से ही अमल में लाई जाएगी। इसमें राज्य के अनुबंधित निजी अस्पतालों में गरीब, आम आदमी और मध्यमवर्गीय परिवार के लोगों को कोरोना का मुफ्त इलाज मिलेगा। योजना के क्रियान्वयन के लिए आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat yojna) पर निजी अस्पतालों को सरकार विशेष पैकेज देगी।

 

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, योजना का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है। आयुष्मान भारत योजना में अभी मध्यप्रदेश के 328 निजी अस्पताल संबद्ध हैं। इनमें 23 हजार 946 बेड्स उपलब्ध हैं। सरकार ने आयुष्मान योजना के तहत 68 निजी अस्पतालों को छह महीने के लिए संबद्ध कर लिया है।

inside1.png

पैकेज की दरें 40 प्रतिशत बढ़ाई

राज्य सरकार ने अस्पतालों के लिए आयुष्मान भारत पैकेज की दरों को 40 फीसदी तक बढ़ाया है। इन दरों में मरीजों को रूम रेंट, भोजन, जांचें, परामर्श शुल्क और पैरामेडिकल शुल्क आदि सुविधाएं दी जाएंगी।

 

एक सदस्य का कार्ड तो सबको मिलेगा लाभ

सरकार ने निर्णय लिया है कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत यदि परिवार के एक सदस्य के पास भी आयुष्मान कार्ड है तो परिवार के अन्य सदस्यों को भी निजी अस्पतालों में निःशुल्क उपचार की सुविधा मिल सकेगी। कोविड इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने पर कलेक्टर उसका आयुष्मान कार्ड बनवाने की व्यवस्था करेंगे।

 

अस्पतालों में 60 हजार बिस्तर होंगे

प्रदेश में आयुष्मान योजना के हितग्राहियों को कोविड के इलाज के लिए निजी-सरकारी अस्पतालों में 60 हजार 915 बिस्तर उपलब्ध होंगे। कलेक्टरों को अधिकार दिए जाएंगे कि वे जिलों में निजी अस्पतालों को संबद्ध कर सकें।

 

डायग्नोस्टिक के लिए पांच हजार एडवांस

राज्य सरकार की ओर से योजना के तहत इलाज करवाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को एडवांस डायग्नोस्टिक के लिए पांच हजार रुपए दिए जाएंगे। अभी आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 5 हजार रुपए प्रत्येक पात्र परिवार को दिए जाते हैं।

मुफ्त इलाज के लिए अस्पताल

श्रेणी सरकारी निजी अनुबंधित आयुष्मान में अनुबंधित
अस्पताल 403 07 578
सामान्य बेड 19920 920 5422
आक्सीजन बेड 13223 2243 9893
आइसीयू-एचडूयी 4016 612 4766

 

 

inside2.png

पत्रिका ने 6 मई के अंक में प्रकाशित की थी यह खबर

शीर्षक से इस मुद्दे को उठाया था। राजस्थान सरकार ने चिरंजीवी योजना के नाम से पांच लाख तक कैशलेस इलाज की सुविधा दी है। इसी तरह मध्यप्रदेश में मुफ्त इलाज की जरूरत को बताती खबर प्रकाशित की थी। इस पर सीएम शिवराज ने तत्काल संज्ञान लिया और योजना का ऐलान कर दिया।

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned