मोदी ने कहा-एमपी गजब है, गांवों ने मिलकर एक लक्ष्य पर किया काम

टीवी पर देखते हैं कि एमपी गजब है। देश का गौरव है। एमपी में गति भी है

By: Subodh Tripathi

Published: 06 Oct 2021, 03:36 PM IST

भोपाल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मध्यप्रदेश के ग्रामीणों से सीधे वर्चुअल संवाद किया है। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों की तारीफ करते हुए उनका हौंसला बढ़ाया है। इसी के साथ करीब पौने दो लाख हितग्राहियों को अधिकार अभिलेख का वितरण ऑनलाइन किया है। इस दौरान मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी हरदा पहुंचे थे। जहां उन्होंने कमल पटेल के साथ मिलकर पौधारोपण भी किया।

पीएम मोदी ने बुधवार को एमपी के 19 जिलों के करीब 3 हजार गांवों के एक लाख 71 हजार हितग्राहियों को अधिकार अभिलेख का वितरण ऑनलाइन किया है। प्रधानमंत्री ने सीहोर, हरदा और डिंडोरी जिले के हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद कर संबोधित भी किया। उन्होंने कहा- गांवों की जो ताकत है, गांव के लोगों की जो जमीन है, जो घर है, उसका उपयोग गांव के लोग अपने विकास के लिए पूरी तरह कर ही नहीं पाते थे। उल्टा गांव की जमीन और गांव के घरों को लेकर विवाद, लड़ाई-झगड़े, अवैध कब्जों में गांव के लोगों की ऊर्जा, समय और पैसा और बर्बाद होता था। अब यह व्यवस्था बदली है। हमने कोरोना काल में देखा कि कैसे भारत के गांवों ने मिलकर एक लक्ष्य पर काम किया, बहुत सतर्कता के साथ महामारी का मुकाबला किया, बाहर से आए लोगों के लिए रहने के अलग इंतजाम हों, भोजन और काम की व्यवस्था हो, वैक्सीनेशन से जुड़ा काम हो, भारत के गांव बहुत आगे रहे।


एमपी गजब है, तीन हितग्राहियों से की बात

पीएम मोदी ने कहा- हम टीवी पर देखते हैं कि एमपी गजब है। देश का गौरव है। एमपी में गति भी है और एमपी में विकास की ललक भी है। लोगों के हित में कोई योजना बनते ही मध्यप्रदेश में जमीन पर उतारने के लिए दिन रात एक कर दिया जाता है। इसलिए मुझे खुशी होती है। स्वामित्व योजना के तहत संपत्ति का अधिकार कार्ड बनने के बाद लोगों को व्यापार के लिए लोन लेने में आसानी होगी।


गांव के विकास में ड्रोन देंगे नई उंचाई


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरदा जिले के हितग्राहियों से बात की। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश लैंड डिजिटलाइजेशन में अग्रणी राज्य बनकर उभरा है। स्वामित्व योजना सिर्फ कानूनी योजना नहीं है,बल्कि ये आधुनिक तकनीक से देश के गांव में विकास और विश्वास का मंत्र है। गांव में उड़ रहे ड्रोन गांवों को नई उंचाई देंगे। देश के करीब 60 जिलों में सर्वे हो चुका है, लैंड रिकार्ड्स तैयार हो चुका है। इस रिकॉर्ड से ग्राम पंचायत के डेवलपमेंट प्लान को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। यह गांव और गरीब को बेहतर बनाने योजना है।

वर्चुअल संवाद के मुख्य बिंदू

पीएम ने कहा कोरोना के बाद भी 2 करोड़ किसानों को क्रेडिट कार्ड दिया, पिछले 6 साल में 15 लाख करोड़ रुपए की राशि मुद्रा योजना के तहत दी, ड्रोन तकनीक से मुश्किल काम को आसानी से किया जा सकता है। उन्होंने कहा पीएम स्वामित्व योनजा को मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब, कर्नाटक और राजस्थान के कुछ गांव में लागू किया गया था। यहां रहने वाले 22 लाख परिवार के लिए प्रॉपर्टी के कागज तैयार किए जा चुके हैं। लेकिन अब पूरे देश में इसका विस्तार किया गया है।


इन्हेंं मिला लाभ
पीएम मोदी ने जिन हितग्राहियों से चर्चा की है, उसके तहत पवन को पुश्तैनी घर का अधिकार मिला, जिसे पाकर वह खुश है, बुधनी की विनीता सिंह ने पीएम से कहा कि अधिकार पत्र मिलने के बाद लोन मिल सकेगा, इससे किराने की दुकान करूंगी। 50 हजार भी मिल जाए तो दुकान खोल लूंगी। इसी प्रकार मोदी ने तीनों से उनके घर की स्थिति भी जानी। डिंडोरी के प्रेम सिंह ने कहा-पट्टा मिलने के बाद हम घर बनाएंगे और कर्ज लेकर कोई धंधा करेंगे।

pm modi
Subodh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned