राज्यसभा में 10 मिनट तक बोले दिग्विजय, मुस्लिमों के नाम पर 5 मिनट तक मोदी पर गरजे

राज्यसभा में  10 मिनट तक बोले दिग्विजय, मुस्लिमों के नाम पर 5 मिनट तक मोदी पर गरजे

Muneshwar Kumar | Publish: Jun, 25 2019 05:52:10 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

लोकसभा चुनाव के बाद राज्यसभा में एक बार फिर से दिग्विजय सिंह पुराने रंग में दिखे। उन्होंने मुस्लिमों के नाम पर मोदी सरकार पर खूब हमला किया।

भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ( Digvijay Singh ) ने राज्यसभा ( Rajya Sabha )में एक बार फिर से मुस्लिमों के बहाने पीएम मोदी पर हमला किया है। दिग्विजय सिंह ने राज्यसभा में अपने दस मिनट के संबोधन में सिर्फ मुस्लिमों ( muslim ) के नाम पर ही मोदी को घेरा। इस दौरान दिग्विजय ( digvijay speech ) पुराने पन्ने को भी कुरेदा। जिसमें गुजरात दंगों ( gujrat riots ) को लेकर भी उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया।

 

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी सबका साथ, सबका विकास की बात करते हैं। लेकिन गुजरात में हुए दंगों के दौरान ढ़ाई हजार लोग मारे गए और मोदी ने माफी तक नहीं मांगी। जो व्यक्ति टोपी पहनने को तैयार नहीं था, जो व्यक्ति गुजरात के सीएम होते हुए मुस्लिम छात्रों को छात्रवृति देने को तैयार नहीं था, जो रोज इफ्तार में नहीं जाता था। वह व्यक्ति संसद के अपने पहले भाषण में कहता है कि हमें मुस्लिमों का विश्वास प्राप्त करना है। मैं उन्हें इसके लिए बधाई देता हूं।

इसे भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा हिंदी में नहीं लिख पाईं राजस्थान, मदनलाल सैनी के निधन पर लिखा- हार्दिक श्रद्धांजलि

 

यह जुमला है या परिवर्तन
दिग्विजय ने अल्पसंख्यकों और संविधान को नमन करने के लिए पीएम मोदी को बधाई दिया। साथ ही यह सवाल भी किया कि क्या यह वाकई परिवर्तन है या सिर्फ जुमला है। वह जो कह रहे हैं वो करके दिखा दें तो हमें बड़ी प्रसन्नता होगी। दिग्विजिय सिंह ने कहा कि इनलोगों ने सांप्रदायिकता का जहर कूट-कूटकर लोगों में भर दिया है। ऐसे में सबका विश्वास कैसे प्राप्त होगा। सांप्रदायिकता भूत और जिन्न जो बोतल में बंद था वो अब बाहर निकल गया है।

digvijay singh

 

जहर भर दिया है
राज्यसभा में बोलते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि आपने लोगों के मन में सांप्रदायिकता का जहर भर दिया है। उसका परिणाम झारखंड में देखने को मिला। जहां भीड़ ने एक मुस्लिम युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। झारखंड में क्या सरकार है, वहां की पुलिस क्या कर रही थी कि 18 घंटे तक पोल से बांधकर उसकी पिटाई होती रही। उसके बाद कोई देखने भी नहीं आया।

digvijay singh

 

जय श्रीराम का नारा लगता है
दिग्विजय सिंह ने कहा कि सभापति महोदय, मुझे दुख होता है कि संसद में एक तरफ से जय श्रीराम का नारा लगता है तो दूसरी तरफ से अल्लाहू अकबर का नारा लगता है। इनलोगों ने भारतीय संसदीय परंपरा में भी कूट-कूटकर जहर भर दिया है। दिग्विजय ने पंडित जवाहर लाल नेहरू का जिक्र करते हुए कहा कि उन पर देश का पूरा मुसलमान भरोसा करता था।

इसे भी पढ़ें: आपातकाल के 44 साल, कांग्रेस सरकार में इमरजेंसी के खिलाफ आवाज उठाने वालों को नहीं मिल रही पेंशन

 

कांग्रेस को नुकसान होता है

राज्यसभा में दिग्विजय सिंह ने कहा कि वोट बैंक पॉलिटिक्स से कांग्रेस को नुकसान होता है। जहां भी सांप्रदायिक दंगे होते हैं, वहां का वोट हिंदू-मुस्लिम के नाम पर बंट जाता है। कैसे-कैसे नेता अब चुनकर संसद में आ रहे हैं।

digvijay singh

 

गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह इस बार के लोकसभा चुनाव में भोपाल से कांग्रेस के उम्मीदवार थे। लेकिन बीजेपी के साध्वी प्रज्ञा से वो चुनाव हार गए। वहीं, राज्यसभा में दिग्विजय सिंह ने बेरोजगारी और पुलवामा के मुद्दे पर उऩ्होंने मोदी सरकार पर हमला किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned