सीताराम येचुरी ने रामायण-महाभारत के दिए उदाहरण, कहा- कैसे कहें हिंदू हिंसक नहीं होता


सीताराम येचुरी ने रामायण-महाभारत के दिए उदाहरण, कहा- कैसे कहें हिंदू हिंसक नहीं होता

By: Pawan Tiwari

Updated: 03 May 2019, 04:14 PM IST

भोपाल. लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान नेताओं के जुबान से निकली बात उनके लिए मुसीबत खड़ी कर देती है। विवादित बयानों का सिलसिला लगातार जारी है। सीपीआई (एम) के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी ने हिंदू धर्म को लेकर विवादित बयान दिया है। येचुरी ने अपने बयान में कहा है कि हिंदू भी हिंसक हो सकते हैं।

 

गुरुवार को भोपाल के गांधी भवन में आयोजित एक सेमिनार में सीताराम येचुरी ने हिंदू धर्म को लेकर ऐसी बात कही है, जिस पर विवाद खड़ा हो गया है। उन्होंने हिंदू धर्म के धार्मिक ग्रंथ रामायण और महाभारत का उदाहरण देते हुए कहा कि इनमें हिंसक घटनाओं और युद्ध का जिक्र है। येचुरी ने कहा कि इसे हमेशा महाकाव्य की तरह पेश किया जाता है। और कहा जाता है कि हिंदू कभी हिंसा नहीं करते हैं।

 

येचुरी ने कहा कि ऐसा कहने के पीछे क्या तर्क मौजूद है कि एक धर्म विशेष के लोग हिंसा करते हैं और हिंदू धर्म के लोग नहीं। येचुरी के इस बयान पर विवाद जारी है। कई संतों ने इसकी आलोचना की है।

 

वहीं, सीताराम ने यह भी कहा है कि इस चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी को गठबंधन हराने जा रहा है। चेयुरी ने कहा कि पूरे देश में गठबंधन बीजेपी के विकल्प के रूप में स्थापित होगा।

 

गौरतलब है कि इस कार्यक्रम भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह भी पहुंचे थे। उन्होंने लेफ्ट और कांग्रेस के बीच बढ़ी दूरियों को कम करने का प्रयास किया। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं दावा करता हूं कि 2019 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं बनेंगे। यह चुनाव विचारधारा की लड़ाई है।

 

दरअसल, भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा के मैदान में उतरने के बाद से हिंदू आतंकवाद का मुद्दा एक बार फिर से उठा है। उसके बाद से ही इस मुद्दे पर चर्चा छिड़ी हुई है। ऐसे में ये संभव है कि बीजेपी फिर से इसे चुनावी रैलियों में मुद्दों बना सकती है।

Show More
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned