ऊंट महोत्सव की थीम में बदलाव की संभावना, तिथि अभी तय नहीं

- पर्यटन विभाग ने मुख्यालय को दिए सुझाव

By: dinesh swami

Published: 20 Nov 2020, 07:29 PM IST

बीकानेर. पर्यटन विभाग कोरोना काल में सैलानियों को आकर्षित करने के लिए जी तोड़ प्रयास कर रहा है। इसके लिए संभाग स्तर पर होने वाले उत्सव मेले आदि में कुछ नया करने की कोशिश की जा रही है। यह सब अभी निश्चित नहीं है कि इनकी अनुमति मिलती है कि नहीं लेकिन विभाग पर्यटकों के लिहाज से बीकानेर के प्रमुख ऊंट उत्सव को लेकर उत्साहित है। पर्यटकों को इसकी ओर आकर्षित करने के लिए कई सुझाव मुख्यालय को दिए हैं।

फिलहाल बीकानेर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। हालांकि इसके साथ यहां थोड़े बहुत देशी पर्यटक भी आने शुरू हो गए हैं। अब नवंबर से पर्यटकों का सीजन शुरू हो गया है। विभाग की कोशिश है कि प्रचार-प्रसार माध्यमों से बीकानेर के पर्यटन स्थलों, मेलों, ग्रामीण जनजीवन, हैंडीक्राफ्ट, ऊंट उत्सव को प्रमोट किया जाए। राज्य के सभी संभागों में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य मुख्यालय की ओर से गुरुवार को विभाग के कल्चरल सेक्रेटरी प्रिसिंपल आलोक गुप्ता ने वर्चुअल बैठक ली। इसमें सातों संभागों के विभागीय अधिकारी शामिल हुए।

ऊंट उत्सव के लिए दिए सुझाव
इस संबंध में विभाग के उपनिदेशक भानुप्रताप ढाका ने बताया कि बीकानेर संभाग में प्रमुख रूप से कार्तिक पूर्णिमा पर कोलायत मेला, गोगामेड़ी मेला एवं ऊंट उत्सव हैं। सांस्कृतिक धार्मिक रूप से कोलायत एवं गोगामेड़ी मेला लगता है। वहीं विभाग की ओर से पर्यटकों के लिए ऊंट उत्सव मनाया जाता है। इस बार कोरोना के चलते सैलानियों का आवक बहुत कम हो गई है। फिलहाल देशी सैलानी ही थोड़े बहुत आ रहे हैं। ऊंट उत्सव में सैलानियों की संख्या बढ़ाने को लेकर वीसी में कुछ सुझाव दिए गए हैं।

इसमें बीकानेर की मीनाकारी, दस्तकारी, ऊंटों की बाल कटिंग सहित अन्य हैंडीक्राफ्ट के कार्य प्रमोट करने के लिए हैंडींक्राफ्ट विलेज बनाने, धोरों पर कैंप फायर करने के सुझाव रखे गए। साथ ही ऐसे देश जो ऊंट पालन करने वाले खाड़ी के कई अरब देश, आस्ट्रेलिया जैसे कई मुल्कों से ऊंट पालकों को इस उत्सव में बुलाना, पर्यटन व्यवसाय जुड़े लोगों की बैठक करना आदि शामिल हैं। ढाका ने बताया कि अभी यह निश्चित नहीं है कि ऊंट उत्सव होगा कि नहीं यह सब राज्य सरकार पर निर्भर है। बीकानेर संभाग में पर्यटकों के लिए क्या नया हो सकता है इस बारे में वीसी में सुझाव दे दिए गए।

dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned