कोरोना की जद में शहर, स्वास्थ्य विभाग के माथे पर उभरी चिंता की लकीरें

अब तक २८९ संक्रमित और १३ मरीजों की हो चुकी मौत

By: Jaiprakash

Updated: 01 Jul 2020, 12:21 AM IST

बीकानेर। कोरोना के संक्रमण की जद में शहर आ चुका है। कोरोना संक्रमण की रफ्तार पांच गुणा से अधिक की तेज हो चुकी है। यह स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बताते हैं।

अप्रेल माह में जहां ३७ मरीज और एक मरीज की मौत हुई थी वहीं कोरोना की जून माह में रफ्तार का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि अब तक १९१ मरीज सामने आ चुके हैं और नौ लोग जिंदगी से हाथ धो चुके हैं। संक्रमण के चरम पर है।बढऩे के बावजूद जिले में सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क व सैनेटाइजर जैसे सुरक्षा उपायों पर आमजन जागरूक नहीं है। बेहद लापरवाही बरत रहे हैं। अब बीकानेर में संक्रमण हर क्षेत्र में पांव पसार चुका है। कोरोना वायरस का संक्रमण अब चरम पर है।

एक नजर इधर...
- अप्रेल माह, १७ दिन में ३७ मरीज, मौत एक
- मई माह, ३१ दिन में ६९ मरीज, मौत तीन
- जून माह, २८ दिन में १९१ मरीज, मौत नौ


एक नजर इधर...
जिले में सैम्पलों की जांच २८७९९
कोरोना पॉजिटिव २८९
कोरोना से मौत १३
होम क्वारेंटाइन किया ६८२५४
होम क्वारेंटाइन से डिस्चार्ज ६२६०२
क्वारेंटीन सेंटर में रखा ७४९८
तीन महीने में घर-घर सर्वे ३८३४१६९
सर्वे किए व्यक्तियों की संख्या २१९२३८०६
सामान्य सर्दी-जुकाम पीडि़त ६७५०१


स्वास्थ्य विभाग की मेहनत हो रही बेकार
बीकानेर जिले में फरवरी माह में कोरेाना ने दस्तक दी। इटली से विदेशी सैलानियों का एक दल बीकानेर भ्रमण पर आया। यह दल जयपुर रोड स्थित एक रिसोर्ट में ठहरा। यह दल जब जयपुर गया। वहां एक दल के सदस्य की तबीयत बिगड़ी। उसकी जांच कराइ तो वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत भी हो गई। इसके बाद बीकानेर जिले में तीन अप्रेल को कोरोना का पहला रोगी मिला। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने युद्धस्तर पर स्क्रीनिंग, घर-घर सर्वे का काम किया। २५० से १००० तक स्वास्थ्य दलों ने सर्वे किया। साथ ही कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में तीन से चार बार स्क्रीनिंग की लेकिन अब संक्रमण बढऩे से स्वास्थ्य विभाग की मेहनत बेकार होती नजर आ रही है।


सुबह से रात नौ बजे के आदेश हवा
जिला कलक्टर ने आदेश जारी कर रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक कफ्र्यू के आदेश जारी कर रखे हैं, जिनकी पालना नहीं हो रही। इतना ही नहीं बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क गायब है। लोग बिना मास्क घुम रहे हैं। बाजारों में पहले की तरह भीड़ होने लगी हैं। अब कफ्र्यू वाले इलाके में जरूरी सख्ती नजर आती है शेष शहर खुला है। शहर के अंदरुनी क्षेत्र में हालात बेहद विकट है। अब शहर के अंदरुनी क्षेत्र से कोरोना मरीजों के रिपोर्ट होने लगे हैं। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के माथे पर चिंता की लकीरें उभर आई है।


इनका कहना है...
संक्रमण बढ़ा है। अब भी हालात नियंत्रण में है। संक्रमितों के रिपोर्ट होने के अनुसार ही पीबीएम अस्पताल में व्यवस्थाएं की गई। सीएमएचओ की ओर से कोविड सेंटर संचालित किया जा रहा है। जांच का दायरा बढ़ा दिया है। सीबी नाट मशीन चालू हो गई है। कोरोना के साथ-साथ सामान्य बीमारियों के इलाज की व्यवस्था को भी पटरी पर ला रहे हैं।
डॉ. शैतानसिंह राठौड़, प्राचार्य एसपी मेडिकल कॉलेज

coronavirus
Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned