कुत्ते ने पांच जनों को काटा, बच्चे की हालत गंभीर

नोखा के बादनूं गांव की घटना

By: Jaiprakash

Published: 28 Jan 2021, 09:10 AM IST

बीकानेर। शहर से लेकर गांव तक आवरा कुत्तों का आतंक है। बुधवार को नोखा तहसील के बादनूं गांव में एक कुत्ता ने परिवार पर हमला कर दिया। कुत्ते ने घर के पांच सदस्यों को काट खाया, जिससे दो वर्षीय बालक की हालत नाजुक बनी हुई है।


बादनूं गांव में बुधवार शाम को कोजूराम के घर की बाखळ में एक कुत्ता घुस आया। उस समय बाखळ में कोजूराम का तीन वर्षीय बेटा पोकरराम, नौ वर्षीय बेटी मोनिका एवं मोहनलाल का चार वर्षीय बेटा सुखराम एवं दो वर्षीय बेटी सपना खेल रहे थे। कोजूराम के भाई शिवलाल ने बताया कि घर के सभी सदस्य मौजूद थे। कुत्ता पागल था। उसने बच्चों पर हमला बोल दिया। तब बाखळ में मौजूद कोजूराम की पत्नी धन्नी (२५) दौड़कर बच्चों को कुत्ते से छुड़ाया। तब तक कुत्ते ने तीन वर्षीय पोकराम के गले व आंख को काट खाया। कुत्ते के चंगुल से बच्चे को बमुश्किल छुड़ाया और शोर मचाया। शोर सुनकर परिवार के अन्य सदस्य दौड़ कर आए। कुत्ते से बच्चों को छुड़ाने धन्नी देवी भी जख्मी हो गई।
परिजन सभी घायलों को पीबीएम अस्पताल लाए
शिवलाल ने बताया कि सभी घायलों को निजी वाहन से पीबीएम अस्पताल लेकर आए, जहां धन्नीदेवी, सुखराम, सपना व मोनिका को प्राथमिक उपचार देकर घर भेज दिया गया जबकि तीन वर्षीय पोकरराम को भर्ती किया गया है। पोकररात के आंख व गले के पास ज्यादा गहरे जख्म होने से उसे ईएनटी अस्पताल में भर्ती किया गया है।

गांव में कुत्ते का आतंक
गांव में पिछले कई दिनों से पागल कुत्ते का आतंक है। गांव में वह कई पशुओं को जख्मी कर चुका है। बड़ों को कुत्ते ने काट लिया था। कुत्ते को पकडऩे के लिए स्थानीय प्रशासन से गुहरा लगाई गई है।

पूर्व में भी हो चुकी है ऐसी घटना
कुत्तों के काटने की पूर्व में भी ऐसी घटनाएं हो चुकी है। करीब सात महीने पहले लूणकरनसर में घर के आगे खेल रही तीन वर्षीय बालिका को कुत्ते ने काट लिया, जिससे वह गंभीर घायल हो गई थी। वहीं इससे पहले नोखा तहसील में ही चार बच्चों को कुत्ते ने काट लिया था।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned