मूण्ड बने तीन बार प्रधान, चौधरी, स्याणी और आर्य को दुबारा मौका

पंचायत चुनाव :
बीकानेर पंचायत समिति : 61 वर्षो में सात जनप्रतिनिधि 12 बार बने है प्रधान
तीन महिलाओं ने भी संभाला है प्रधान पद का दायित्व

By: Vimal

Published: 28 Oct 2020, 12:50 AM IST

बीकानेर. बीकानेर पंचायत समिति में वर्ष 1959 से अब तक सात जनप्रतिनिधियों ने 12 बार प्रधान पद का दायित्व संभाला है। सात जनप्रतिनिधियों में चार पुरुष और तीन महिलाएं है। सर्वाधिक तीन बार प्रधान पद की जिम्मेदारी तुलसीराम मूण्ड ने संभाली है। उन्होंने वर्ष 1981 से 1991 तक लगातार दो बार तथा फिर वर्ष 2005 से 2010 तक यह दायित्व संभाला।

 

पंचायत समिति में सबसे कम समय तक कार्यवाहक प्रधान के रूप में कार्यकाल लालसिंह स्याणी का रहा। वे अप्रेल 1967 से दिसम्बर 1967 तक तक प्रधान रहे। बीकानेर पंचायत समिति में तीन महिलाएं भी प्रधान पद की जिम्मेदारी को संभाल चुकी है। पंचायत समिति के सबसे पहले प्रधान किशोरी लाल बिनानी चुने गए थे। अब तक किशोरी लाल, जमना देवी बारुपाल और राधा देवी सियाग एक-एक बार प्रधान चुने गए है।

 

इनको मिला दुबारा मौका
बीकानेर पंचायत समिति में तीन जनप्रतिनिधियों को दो बार प्रधान बनने का अवसर मिला है। भोमराज आर्य वर्ष 2000 से 2005 तक और 2010 से 2015 तक प्रधान पद का दायित्व संभाला। वहंीं चन्द्रकला चौधरी वर्ष 1961 से 1967 तक और वर्ष 1967 से 1973 तक प्रधान रही। लाल सिंह स्याणी भी दो बार प्रधान की कुर्सी संभाल चुके है। उन्होंने कार्यवाहक प्रधान के रूप में अप्रेल 1967 से दिसम्बर 1967 तक और 1973 से 1979 तक प्रधान की कुर्सी संभाली।

 

तीन महिलाओं ने संभाली प्रधान की कुर्सी
तीन महिलाओं ने बीकानेर पंचायत समिति में अब तक प्रधान पद की जिम्मेदारी को संभाला है। सबसे पहले वर्ष 1961 में चन्द्रकला चौधरी प्रधान चुनी गई और 1967 तक कार्यभार संभाला। फिर दिसम्बर 1967 में प्रधान की कुर्सी को संभाला और 1973 तक इस पद पर रही। दूसरी बार वर्ष 1995 में जमना देवी बारुपाल प्रधान चुनी गई। वे इस पद पर वर्ष 2000 तक रही। तीसरी बार राधा देवी सियाग ने प्रधान का दायित्व संभाला। उनका कार्यकाल वर्ष 2015 से 2020 तक रहा।

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned