सडक़ों पर गड्ढ़े, नालियां बदहाल, बीस करोड़ के टेण्डर का कब मिलेगा लाभ

बजट में घोषणा, सात माह बाद भी काम शुरू नहीं

टूटी नालियां, पतरे गायब

By: dinesh swami

Published: 20 Sep 2020, 10:24 PM IST

बीकानेर. शहर की सडक़ों और नाले-नालियों की स्थिति बदहाल है। जगह-जगह सडक़ों पर डामर उखड़ा पड़ा है। सीवरेज, पेयजल पाइप लाइन सहित अन्य कार्यो के चलते जगह-जगह गड्ढे बने हुए है। लोग रोज इन गड्ढों के कारण परेशान हो रहे है। हर समय किसी दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।

 

जिला कलक्टर कई बार संबंधित विभागों के अधिकारियों को सडक़ों की दशा सुधारने को लेकर निर्देश दे चुके है, लेकिन विभागों में छाई उदासीनता के चलते सडक़ों की स्थिति में सुधार के प्रयास नजर नहीं आ रहे है। निगम की बजट बैठक में सात माह पहले वार्ड अनुसार विकास कार्य करवाने की घोषणा की गई थी। वार्ड अनुसार कार्य अब तक शुरू नहीं हो पाए है। हालांकि नगर निगम सडक़, सीवरेज और नाला-नालियों के लिए बीस करोड़ रुपए के विकास कार्यो की टेण्डर प्रक्रिया शुरू कर चुका है, लेकिन धरातल पर काम कब ाुरू होगा और आमजन को गड्ढों से कब निजात मिलेगी, कुछ नहीं कहा जा सकता है।

 

 

बजट में घोषणा, सात माह बाद भी काम शुरू नहीं
निगम महापौर ने फरवरी माह में हुई निगम की बजट बैठक में वार्ड अनुसार निर्माण और विकास कार्य करवाने की घोषणा की थी। इसके बाद महापौर ने निगम अधिकारियों की बैठक लेकर भी वार्ड अनुसार कार्य शुरू करवाने के निर्देश दिए। टेण्डर प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई। बताया जा रहा है कि निगम की ओर से ऑन लाइन प्राप्त हुए टेण्डर को खोला नहीं गया है। टेण्डर खुलने के बाद कार्यादेश जारी होंगे, फिर संबंधित फर्मे कार्य शुरू करेगी। चार करोड़ के पैकेज कार्यो के लिए 31 अगस्त को टेण्डर खोले जा चुके है, लेकिन १५ सितम्बर तक पैकेज कार्यो के कार्यादेश जारी नहीं हो पाए।

 

उखड़ा डामर, जगह-जगह गड्ढ़े
पुराने शहर के गली-मोहल्लों से लेकर मुख्य मार्गो और बाजारों तक जगह-जगह सडक़ों पर डामर उखड़ा हुआ है। सीवर कार्य, पेयजल पाइप लाइन सहित अन्य कार्यो के चलते जगह-जगह सडक़े खुदी पड़ी है। कई स्थानों पर गड्ढ़े लम्बे समय से पड़े है। रोज लोग परेशान हो रहे है। न सडक़ों का निर्माण हो पा रहा है और ना ही पेचवर्क का कार्य। रोज दुपहिया वाहन चालक उखड़े डामर और गड्ढ़ो के कारण गिरकर घायल हो रहे है। जिल गली-मोहल्लों में प्रकाश की उचित व्यवस्था नहीं है वहां गड्ढे अधिक खतरनाक बने हुए है। गंगाशहर-भीनासर, सुजानदेसर सहित शहर की कच्ची बस्तियों के क्षेत्रों में सडक़ों की स्थिति बदहाल है।

 

 

टूटी नालियां, पतरे गायब
शहर के जिन क्षेत्रों में सीवरेज व्यवस्था नहीं है, उनमें नालियां गंदे पानी की निकासी का प्रमुख माध्यम है। लम्बे समय से नालियों का निर्माण नहीं होने से जगह-जगह नालियां टूटी पड़ी है। रोज नालियों का गंदा पानी सडक़ों पर फैल रहा है। सडक़ के बीच से होकर निकल रही नालियों के उपर लोहे के पतरे नहीं होने से नालियां खतरनाक बनी हुई है। रोज दुपहिया गिरते-गिरते बच रहे है। बिना पतरे की नालियों से हर समय दुर्घटना की आशंका बनी हुई है।

 

 

जल्द होंगे कार्यादेश
पैकेज कार्यो के टेण्डर के बाद पत्रावली तैयार है। आयुक्त स्तर पर कार्यादेश जारी होने है। वार्ड अनुसार विकास कार्यो के टेण्डर ऑन लाइन भरे जा चुके है। सर्वर डाउन होने के कारण टेण्डर नहीं खोले जा सके है। जल्द टेण्डर खोलकर निगम क्षेत्र में पैकेज और वार्ड अनुसार होने वाले विकास कार्यो के लिए कार्यादेश जारी किए जाएंगे।
संजय ठोलिया, अधिशाषी अभियंता, नगर निगम बीकानेर।

dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned