scriptआशंका सच साबित हुई, नकली सरसों पहुंची वेयर हाउस | Patrika News
बीकानेर

आशंका सच साबित हुई, नकली सरसों पहुंची वेयर हाउस

सरकारी खरीद में सरसों बेचने वाले किसानों का भुगतान अटकने के मामले में राजस्थान पत्रिका की ओर से खबर प्रकाशित करने के बाद अब पूरे प्रकरण में नया मोड़ आया

बीकानेरJul 01, 2024 / 12:55 am

Hari

श्रीडूंगरगढ़. किसानों का तुला हुआ माल रखने का स्थान खाली पड़ा हुआ।

सरकारी खरीद की सरसों का किसानों को भुगतान नहीं होने का प्रकरण, ग्राम सेवा सहकारी समिति रीड़ी व्यवस्थापक सहित अन्य के खिलाफ मामला दर्ज

श्रीडूंगरगढ़ में सरकारी समर्थन मूल्य पर खरीद के बाद नकली सरसों वेयर हाउस पहुंचने पर सूरतगढ़ थाने में मामला दर्ज हुआ है। गौरतलब है कि सरकारी खरीद में सरसों बेचने वाले किसानों का भुगतान अटकने के मामले में राजस्थान पत्रिका की ओर से खबर प्रकाशित करने के बाद अब पूरे प्रकरण में नया मोड़ आया है।
जानकारी के अनुसार सरकारी तुलाई के बाद सरसों वेयर हाउस नही पहुंचने के कारण किसानों का भुगतान अटकने की बात मुख्य व्यवस्थापक गौरव जैन ने स्वीकार की थी। विधायक ताराचन्द सारस्वत ने भी समाचार प्रकाशित होने के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए किसानों का भुगतान करने व सरसों खरीद की जांच के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए थे। इसके बाद जब वेयर हाउस सूरतगढ़ में सरसों पहुंची, तो वह सरसों नकली निकली है। इस संबंध सूरतगढ़ थाने में ग्राम सहकारी समिति रीड़ी व्यवस्थापक रामनिवास सहित अन्य के खिलाफ नकली सरसों पहुंचाकर राजकोष को नुकसान पहुंचाने व गबन करने के आरोप का मामला दर्ज हुआ है। इस प्रकरण में सरसों की सरकारी खरीद में गड़बड़ी की बू आने लगी है।
व्यापार मंडल अध्यक्ष ने करवाया मामला दर्ज

व्यापार मंडल अध्यक्ष सूरतगढ़ संजय सोनी ने सूरतगढ़ थाने में रविवार को दी रिपोर्ट में बताया कि 29 जून शाम को उसे सूचना मिली कि आरएसडब्ल्यूसी के सूरतगढ स्थित वेयर हाउस में नकली सरसों लगाई जा रही है। सूचना पर वह और संजय व्यास वेयर हाउस पहुंचे तो एक ट्रक में सरसों की बोरियां खाली करवाई जा रही थी। मौके पर रीडी सोसायटी का व्यवस्थापक रामनिवास व आरएसडब्ल्यूसी का अधिकारी आदराम भी मौके पर थे। उन्होंने सरसों की जांच की, तो ट्रक से उतारी गई बोरियों तथा ट्रक में शेष लदी बोरियों में नकली सरसों मिली थाी। इस पर आदराम व रामनिवास को उलाहना दिया, तो तुरन्त सरसों उतारना बंद कर ट्रक रवाना करने लगे। इस पर ट्रक रुकवाकर पुलिस को सूचनी दी, तो पुलिस ट्रक को थाने में लेकर आई। पुलिस पहुंचने तक रामनिवास व आदराम मौके से भाग गए। आरएसडब्ल्यूसी के कर्मचारी व सोसायटी व्यवस्थापक सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी ने मिलकर नकली सरसों गोदाम में लगाकर राजकोष को नुकसान पहुंचाया है। सम्भवतःआरएसडब्ल्यूसी के गोदाम में पहले भी इसी तरह ही सरसों रखी होगी। इसलिए धोखाधडी व गबन कर राजकोष को नुकसान पहुंचाने व सभी ज्ञात अज्ञात अधिकारी कर्मचारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाए।
यह था मामला

गौरतलब है कि क्रय विक्रय सहकारी समिति की ओर से सरसों की खरीद की गई, लेकिन अभी तक किसानों को भुगतान प्राप्त नहीं हुआ है। फसल तुलवाने के एक माह बाद भी भुगतान नहीं मिलने से किसान चक्कर लगा रहे हैं। वेयर हाउस में सरसों के बैग नहीं पहुंचने के कारण किसानों का भुगतान अटकने की बात सामने आने पर मुख्य व्यवस्थापक गौरव जैन ने बताया कि सरसों के 518 बैग अभी तक वेयर हाउस नहीं भेजे गए है। वहीं राजफैड के क्षेत्रीय अधिकारी शिशुपाल सिंह ने बताया था कि 2193 बैग का वेयर हाउस रसीद (डब्ल्यू आर) उन्हें नही मिली है।
पत्रिका ने प्रमुखता से उठाया था मुद्दा

गौरतलब है कि सरकारी मूल्य पर सरसों खरीद के एक माह बाद भी करीब 70 किसानों का भुगतान अटकने के मुद्दे को राजस्थान पत्रिका ने 25 जून के अंक में किसान परेशान- 518 बैग नहीं पहुंचे वेयर हाउस, 2193 की रसीद नहीं पहुंची, सरकारी खरीद की सरसों का नहीं हुआ भुगतान के शीर्षक से खबर को प्रमुखता से उठाया था। खबर प्रकाशित होने के बाद विधायक सारस्वत ने भी मामले को गंभीरता से लेते हुए सम्बंधितअधिकारियो को शीघ्र भुगतान व खरीद में गड़बड़ी की जांच करने के निर्देश दिए थे।

Hindi News/ Bikaner / आशंका सच साबित हुई, नकली सरसों पहुंची वेयर हाउस

ट्रेंडिंग वीडियो