दो मरीजों का परीक्षण, इसी सप्ताह देंगे प्लाज्मा थैरेपी

टोसिलिजूमैब व रेमडेसिविर दवा पहुंची

By: Jaiprakash

Published: 31 Jul 2020, 07:19 PM IST

बीकानेर। एसपी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध पीबीएम अस्पताल अब मरीजों को प्लाज्मा थैरेपी देने की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा रहा है। एक डोनर का प्लाज्मा लेकर ब्लड ट्रांसफ्यूजन विभाग में स्टोर किया गया है। यह प्लाज्मा दो मरीजों को देने की तैयारी में अस्पताल के मेडिसिन एवं ब्लड ट्रांसफ्यूजन विभाग के वरिष्ठ चिकित्स जुटे हुए हैं।


पीबीएम अधीक्षक डॉ. मोहम्मद सलीम ने बताया कि गंभीर रोगियों को प्लाज्मा देने पर देशभर में मरीज ठीक हो रहे हैं। अब बीकानेर भी इस और कदम बढ़ रहा है। प्लाज्मा थैरेपी के लिए पिछले एक महीने से मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ. एलए गौरी, डॉ. बीके गुप्ता व डॉ. सुरेन्द्र कुमार शर्मा लगे हुए हैं। प्लाज्मा थैरेपी देने के लिए उपयोग में ली जाने वाली एंटीबॉडी टेस्ट किट पहुंच गई है। इसी सप्ताह एक मरीज को प्लाज्मा थैरेपी दे दी जाएगी।

डोनर कर रहे तलाश
डॉ. सलीम ने बताया कि एक डोनर ने प्लाज्मा दिया है। अब हम और डोनर की तलाश कर रहे हैं। प्लाज्मा डोनेट करने के लिए गुरुवार को चार लोगों ने संपर्क किया है। अब उनकी सभी जांच प्रक्रिया पूरी करने के बाद प्लाज्मा लेंगे।

और पहुंंचा दवा का स्टॉक
अधीक्षक डॉ. सलीम ने बताया कि कोरोना के गंभीर रोगियों बचाने में कारगर मानी जाने वाली टोसिलिजूमैब व रेमडेसिविर दवा का स्टॉक और पहुंच गया है। टोसिलिजूमैब के १५ और रेमडेसिविर के ५० इंजेक्शन मिल गए हैं। यह दवा पर्याप्त है।

दो और मरीजों दवा देना शुरू
मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ. एलए गौरी ने बताया कि टोसिलिजूमैब इंजेशन देना शुरू किया गया है। अब तक चार लोगों को इंजेक्शन दिया जा चुका है। अब रेमडेसिविर दवा भी पहुंच गई है। जरूरत पडऩे पर वह दवा भी मरीजों को दी जाएगी। टोसिलिजूमैब व रेमडेसिविर जिन मरीजों को दे रहे हैं, उनकी पूरी निगरानी रखी जा रही है।

coronavirus
Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned