लीडर वही जो दूसरों की इच्छा को सर्वोपरि रखे- अमर

सभी के सहयोग की भावना आपको लीडर बनाती है, लेकिन सहयोग करने के लिये स्वयं को क्षमतावान बनाना आवश्यक है।

By: Amil Shrivas

Published: 23 May 2018, 12:45 PM IST

बिलासपुर . जिला प्रशासन द्वारा आयोजित करियर मार्गदर्शन शिविर के समापन अवसर पर मंत्री अमर अग्रवाल छात्र-छात्राओं का उत्साहवर्धन करने पहुंचे। इस अवसर पर अग्रवाल ने कहा कि सफल लीडर वही होता है जो दूसरों की इच्छा को सर्वोपरि रखता है। सभी के सहयोग की भावना आपको लीडर बनाती है, लेकिन सहयोग करने के लिये स्वयं को क्षमतावान बनाना आवश्यक है। आपको परेशानियों से लडऩा है उन पर हमला करना है। जैसा हम सोचते हैं हम वैसे ही बन जाते हैं। इसलिये हमेशा सकारात्मक सोचें आप हर कदम पर सफल होंगे। जिसने अपने आपको पहचान लिया उसकी राह कोई नहीं रोक सकता,रास्ते खुद बनते चले जाते हैं। अग्रवाल ने शिविर की प्रशंसा करते हुये कहा कि करियर से संबंधित आप सभी को अपने प्रश्नों के जवाब मिल गये होंगे। मुझे जानकर बड़ी खुशी हुई कि आप सबने मॉल में मूवी देखी और वाटर पार्क में मस्ती भी की। इस अवसर पर संभाग के कमिश्नर टी सी महावर ने कहा कि बच्चों को जानना जरूरी है कि क्या पढ़ें और कैसे पढ़ें। आप हमेशा अपनी जेब में एक डायरी जरूर रखें। जब भी कोई काम की बात पता चले उसे डायरी में नोट कर लें। इससे आपकी तैयारी हमेशा मजबूत रहेगी। एसपी आरिफ शेख ने पुलिस सेवा में करियर बनाने पर बच्चों को जानकारी दी। शिविर के अंतिम दिन सहायक कलेक्टर कुणाल दुदावत ने भी बच्चों को यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी के संबंध में टिप्स दिये। लॉ के क्षेत्र में करियर बनाने के लिये वकील मतीन सिद्दिकी ने बच्चों को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वकालत करते हुए आप जज भी बन सकते हैं। लॉ फम्र्स में भी अच्छे पैकेज पर लॉ ग्रेजुएट को नौकरी मिल जाती है। समापन के अवसर पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। मंत्री अमर अग्रवाल ने सभी को प्रमाण पत्र देकर उत्साहवर्धन किया। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ फरीहा आलम सिद्दिकी, अपर कलेक्टर बी एस उइके, एसपी उपाध्यायए डीईओ हेमंत उपाध्याय, अतुल ओझा उपस्थित रहे।

जितना बड़ा संघर्ष, उतनी बड़ी सफलता : कलेक्टर पी दयानंद ने बच्चों को यूपीएससी की तैयारी के संबंध में जानकारी दी। न्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए बच्चों को बताया कि मेंस एक्जाम के पहले उनकी बहुत ज्यादा तवियत खराब हो गई थी। लेकिन मैंने दृढ़ निश्चय किया था कि यूपीएससी फाइट करना ही है और आज उसका परिणाम आप सबके सामने है। इसलिये आप सभी को कभी भी विपरीत परिस्थितियों से घबराना नहीं है। जितनी बड़ी परेशानी आएंगीए ये मानिये सफलता भी उतनी ही बड़ी मिलने वाली है। बस आपको धैर्य बनाकर रखना है।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned