कॉल होते ही इम्यूनाइजेशन सेंटर तक पहुंचेगी वैक्सीन, छोटे कोल्डचेन सेंटर बनाने के लिए सर्वे का काम जोरों पर

अब विभाग मिनी कोल्ड चेन सेंटर पर फोकस कर रहा है। विभाग ने 15 मिनी कोल्ड चेन सेंटर बनाने के लिए सर्वे करके शासन को रिपोर्ट भेजी है। इसके बन जाने के बाद कॉल होते ही कुछ ही मिनटों में वैक्सीन प्रतिरक्षण केंद्र तक पहुंच जाएगी।

By: Karunakant Chaubey

Published: 25 Oct 2020, 10:14 PM IST

बिलासपुर. कोरोना के खिलाफ कारगर वैक्सीन आने से पहले ही स्वास्थ्य विभाग वैक्सीन के रखरखाव के लिए कोल्ड चेन सेंटरों को अपडेट करने में लगा हुआ है। वैसे तो बिलासपुर में स्वास्थ्य विभाग के पास 5 लाख वैक्सीन रखने की क्षमता वाला सेंट्रल कोल्ड स्टोरेज वाला ड्रग वेयरहाउस है।

इसके साथ ही अलग-अलग ब्लॉक में भी बड़ी क्षमता वाले मीडियम स्केल वाले कोल्ड चैन पॉइंट भी हैं। इसके बावजूद भी विभाग अपनी ओर से कोई कमी नहीं छोडऩा चाहता है इसलिए पहले वैक्सीन आने से पूर्व ही सभी कोल्ड चैन पॉइंट्स को अपडेट करने में लगा हुआ है।

प्रदेश के इन दो जिलों में नए हॉट स्पॉट, अफसर बोले- गांवों से आ रहे मरीज

अब विभाग मिनी कोल्ड चेन सेंटर पर फोकस कर रहा है। विभाग ने 15 मिनी कोल्ड चेन सेंटर बनाने के लिए सर्वे करके शासन को रिपोर्ट भेजी है। इसके बन जाने के बाद कॉल होते ही कुछ ही मिनटों में वैक्सीन प्रतिरक्षण केंद्र तक पहुंच जाएगी।

सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने मिनी कोल्ड चेन सेंटर बनाने के लिए सर्वे की जिम्मेदारी जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. मनोज सैम्युअल को सौंपी है। डॉ. सैम्युअल ने लखराम, देवरीखुर्द, सिरगिट्टी, तिफरा यदुनंदन नगर, लिंगियाडीह, करगीकला, टेंगनमाड़ा, केंदा, चपोरा, जोंधरा, जयरामनगर, खम्हरिया, मूछ, दैजा और सकरी सहित कुल 15 जगहों में मिनी कोल्ड चेन सेंटर का सर्वे किया है।

इसकी रिपोर्ट भी शासन को भेज दी गई है। आगे के सर्वे को लेकर कार्य जारी है। अनुमति मिलते यही यहां कोल्ड चेन सेंटर अपडेटेशन का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। बनने के बाद इन कोल्ड चेन सेंटर में 3-4 हजार वैक्सीन को रखा जा सकता है।

बारीकी से किया गया है सर्वे

स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर और तकनीकि टीम ने मिनी कोल्ड चेन सेंटर बनाने के लिए बारीकी के साथ सर्वे किया है। उन्होंने सभी सेंटर्स की बिल्डिंग में खिड़की, दरवाजा, वेंटिलेशन, रोशनी से लेकर पॉवर बैकअप तक का सर्वे किया है।

ये भी पढ़ें: गंभीर बीमारियों से जूझ रहे कोरोना संक्रमितों को दे दी होम आइसोलेशन की अनुमति, 18 मरीजों की मौत

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned