शौचालय था नहीं तो पटरी पर गई थी, फिर जानें क्या हुआ देखें वीडियो

दुर्गा बाई समय से पहले टै्रक पार कर सत्या नगर पहुंच गई, लेकिन मैना बाई ट्रेन की चपेट में आ गई।

By: Amil Shrivas

Published: 10 Nov 2017, 11:11 AM IST

बिलासपुर . खुले में शौच करने जाना एक परिवार के कलंक साबित हो गया। पटरियों के बीच पहुंची वृद्ध महिला की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। वहीं नाती बहू बाल-बाल बच गई। घटना सिविल लाइन थानांतर्गत अमेरी फाटक के पास गुरुवार रात हुई। पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है। सिविल लाइन पुलिस के अनुसार मुंगेली जिले के लोरमी अंतर्गत ग्राम झलरी निवासी कोमल पाटले (27)बुधवार को पत्नी दुर्गा पाटल े(24), नानी मैना बाई धृतलहरे पति सुखन (60) के साथ 3 साल के बेटे प्रमोद का उपचार कराने बिलासपुर आया था। सत्या नगर में वे सभी ससुराल में रुके थे। गुरुवार रात करीब 8 बजे मैना बाई और दुर्गा शौच के लिए अमेरी फाटक की ओर रेलवे ट्रेक पर गए थे। अप और डाउन दिशा के बीच दोनों पहुंचे थे कि इसी बीच उसलापुर स्टेशन से एक्सप्रेस तेज रफ्तार से आने लकी। वहीं बिलासपुर स्टेशन से एक मालगाड़ी तेज रफ्तार से उसलापुर की ओर जा रही थी। एक साथ दोनों दिशाओं से ट्रेन पहुंचने से दुर्गा और मैना बाई घबरा गए। दुर्गा बाई समय से पहले टै्रक पार कर सत्या नगर पहुंच गई, लेकिन मैना बाई ट्रेन की चपेट में आ गई। उसकी मौके पर मौत हो गई। घटना के बाद दुर्गा बाई घर पहुंची और परिजनों को सूचना दी। परिजनों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को मच्र्युरी भेजा। पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है।

रात 11 बजे उठाया वृद्धा का शव : घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने रात करीब 11 बजे पंचानामा करने के बाद कई टुकड़ों में कटे शव को उठवाकर बोरी में भरने के बाद मच्र्युरी भेजा। वहीं घटना के बाद रेलवे ट्रैक के पास लोगों की भीड़ जुटी रही।
दण्ड का प्रवधान फिर भी नहीं लेते सीख : स्वच्छ भारत अभियान के तहत सरकार ने खुले में शौच करने पर दण्ड का प्रवधान किया है।गांवों में सरकार मुफ्त में घरों-घर शौचालय का निर्माण करा रही है। इसके बाद भी लोग खुले में शौच करने जा रहे थे। मैना बाई शौचालय का उपयोग करती तो उसकी जान बच जाती।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned