scriptJeetendra was a body double for actress Sandhya for the movie Navrang | जितेंद्र बने थे इस हीरोइन के बॉडी डबल | Patrika News

जितेंद्र बने थे इस हीरोइन के बॉडी डबल

बॉलीवुड इंडस्ट्री में आने के लिए एक्टर् जितेंद्र ने करियर की शुरुआत मे काफी स्ट्रगल किया है। अपनी लगन और मेहनत से उन्होंने इंडस्ट्री में नाम कमाया और स्टारडम हासिल किया।

Updated: January 17, 2022 02:30:07 pm

हम सब जानते हैं बॉलीवुड में काम पाना बहुत ही मुश्किल काम है, मगर फिर भी देशभर के युवा फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बनना चाहते हैं। और कई युवा अपने इस ख़्वाब को पूरा करने में सफल भी हुए हैं तो कई असफल भी। मगर कुछ ही लोगों का नसीब उनकी मेहनत से चमक पाने में सफल हो पाया है। वैसे ही एक चमकता सितार बॉलीवुड को मिला जो अब 'जंपिंग जैक' के नाम से मशहूर है यानी कि जितेंद्र। उन्होंने फिल्मों में एंट्री अपने नसीब और मेहनत से हांसिल की है। इस शोहरत को पाने के लिए बहुत स्ट्रगल भी करना पड़ा था।
जितेंद्र बने थे इस हीरोइन के बॉडी डबल
जितेंद्र बने थे इस हीरोइन के बॉडी डबल
एक वक्त ऐसा भी था जब जितेंद्र को मजबूरन हीरोइन का बॉडी डबल बनना पड़ा था। चलिए बताते हैं जितेंद्र के उस फिल्मी सफर के बारे में और सुनाते हैं वो रोचक किस्सा जब उन्हें हीरोइन वाला किरदार निभाने के लिए मजबूर होना पड़ा था। बात 60 के दशक कि है, जब जितेंद्र बॉलीवुड में अपने लिए जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे। उन पर हीरो बनने का जुनून सवार था और कुछ भी करके वो हीरो बनना चाहते थे, उसी दौरान उन्हें एक फिल्म का ऑफर मिला जिसका नाम है 'नवरंग'। इस फिल्म के डायरेक्टर थे वी शांताराम, जो उस जमाने के काफी मशहूर डायरेक्टर हुआ करते थे।

जब जितेंद्र को ये फिल्म ऑफर हुई तो वो बहुत खुश हुए। उन्हें लगा कि फिल्म में उन्हें लीड रोल ऑफर हुई है, मगर उनकी ये खुशी ज्यादा देर नहीं टिक पाई। क्योंकि उन्हें जब पता चला कि फिल्म में उन्हें हीरोइन के बॉडी डबल का रोल करना है तो पहले तो वो अवाक रह गए, लेकिन बाद में मान गए। वैसे भी उन दिनों उनके पास कोई काम नहीं था और उन्हें पैसों की जरूरत थी, ऐसे में उन्होंने रोल के लिए हां कर दिया। और एक रीजन ये भी था कि वो वी शांताराम जैसे इतने बड़े डायरेक्टर के साथ काम करने का मौक़ा नहीं छोड़ना चाहते थे और उनके साथ ये उनकी पहली फिल्म भी थी। इस बात का जिक्र जितेंद्र ने 'द कपिल शर्मा शो' में किया है, उन्होंने बताया, "मैं जूनियर आर्टिस्ट हूं ‘सेहरा’ पिक्चर में और शांताराम जी की चमचागिरी करनी है, कुछ भी करने को रेडी हूं। तो बीकानेर में डुप्लीकेट नहीं मिल रहा था। आप यकीन नहीं करेंगे मैंने संध्या जी का डुप्लीकेट प्ले किया। उस जमाने में कपड़े भी वैसे और शांताराम जी तो ऑथेंटिक फिल्ममेकर थे न तो मुझे ऑथेंटिक लड़की बनाया।"

यह भी पढ़े - राज कपूर क्यों करने लगे थे अंधविश्वास पर विश्वास
jitendra.jpg
तो इस तरह फिल्म 'नवरंग' के लिए जीतेंद्र ने अभिनेत्री संध्या के बॉडी डबल की तरह काम किया , फिल्म रिलीज हुई और काफी हिट रही लेकिन जितेंद्र के करियर को इससे कोई फायदा नहीं हुआ। जितेंद्र का संघर्ष इसके बाद भी चलता रहा, पहली फिल्म के बाद भी तकरीबन पांच सालों तक उन्हें कोई फिल्म नहीं मिली और वो उसी तरह काम की तलाश में भटकते रहे। 1964 में जाकर जितेंद्र को फिल्म मिली 'गीत गाया पत्थरों ने', मगर ये फिल्म फ़्लॉप हो गई। आखिरकार उन्हें एक फिल्म मिली जिसकी बदोलत वो एक सुपरस्टार बन गए, वो फिल्म थी 1967 में आई 'फर्ज़'। इस फिल्म ने ना सिर्फ रिकॉर्ड सफलता पाई बल्कि इस फिल्म में जितेंद्र द्वार पहने गए सफेद जूते और टी-शर्ट उनका ट्रेडमार्क बन गए जिसे उनकी 'कारवां' और 'हमजोली' जैसी फिल्मों में भी फॉलो किया गया।

इसके बाद उन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्में दी, जिनमें 'हमजोली', 'परिचय', 'खुशबू', 'प्रियतमा', 'धरम वीर', 'जस्टिस चौधरी', 'तोहफा', 'हैसियत', 'आदमी खिलौना है', 'अपना बना लो', 'रक्षा', 'फर्ज और क़ानून', 'धर्म कांटा', और 'हिम्मतवाला' जैसी फिल्में शामिल हैं।

यह भी पढ़े - जब दिलीप साहब को ऑफर हुई इंटरनेशनल फिल्म, फिर उन्होंने क्या किया?

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra : फ्लोर टेस्ट से गायब क्यों रहे MVA के 11 MLAs, कारण जानकर Congress की उड़ी नींदCBSE Board Result 2022: सीबीएसई 10वीं-12वीं का परिणाम कब करेगा जारी, cbseresults.nic.in पर देखें लेटेस्ट अपडेटफिर गोलीबारी से दहला अमेरिका: फ्रीडम डे परेड में फायरिंग से 6 लोगों की मौत, 57 घायलबुजुर्ग महिला से कैफे में मिले राहुल गांधी, कांग्रेस ने बताया बिना स्क्रिप्ट का शुद्ध प्रेमभूंकप के झटकों से थर्राया अंडमान निकोबार, रिक्टर स्कैल पर 5 मापी गई तीव्रताEknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद कार में पिस्तौल लहराते हुए जश्न मनाते दिखे हत्यारे, वायरल हुआ वीडियो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.