सुशांत की मौत के 5 महीने बाद बोले उद्धव ठाकरे, कहा- 'दुर्भाग्य की बात की है कि शख्स की मौत पर राजनीति होती है'

By: Shweta Dhobhal
| Published: 27 Nov 2020, 05:54 PM IST
सुशांत की मौत के 5 महीने बाद बोले उद्धव ठाकरे, कहा- 'दुर्भाग्य की बात की है कि शख्स की मौत पर राजनीति होती है'
Maharashtra Cm Uddhav Thackeray Break His Slient On Sushant Death

  • महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ( Uddhav Thackeray ) ने सुशांत की मौत पर तोड़ी चुप्पी
  • अभिनेता की मौत पर राजनीति को बताया दुर्भाग्यपूर्ण
  • एक्ट्रेस कंगना रनौत ( Kangana Ranaut ) के बारें में बात करने से किया मना

नई दिल्ली। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajput ) के देहांत को हुए पूरे पांच महीने हो चुके हैं, लेकिन आज भी उनकी मौत के राज से पर्दा उठ नहीं पाया है। आज भी सभी के दिल में एक सवाल है कि आखिरकार सुशांत सुसाइड किया है या फिर उनका मर्डर हुआ है। अभिनेता की मौत के बाद कई अभिनेता और नेताओं के बयान सामाने आए थे. लेकिन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( Uddhav Thackeray ) इस पूरे मामले पर चुप्पी साधे बैठे हुए थे। पांच महीनों बाद आखिरकार मुख्यमंत्री ने अपनी चुप्पी तोड़ डाली है। उन्होंने सुशांत की मौत को लेकर अपना पक्ष रखा है।

यह भी पढ़ें- कृषि बिल पर किसानों का आंदोलन देख स्टार्स हुए हैरान, एक्टर Sonu Sood बोले- 'किसान मेरा भगवान'

Sushant Singh Rajput

दरअसल, शिवसेना के मुखपत्र में उद्धव ठाकरे का एक साक्षात्कार प्रकाशित हुआ है। जिसमें उन्होंने उन तमाम लोगों पर निशाना साधा है। जिन्होंने अभिनेता की मौत पर राजनीति करनी चाही है। उन्होंने अपने इंटरव्यू में कहा है कि वह सुशांत के निधन पर सहानुभूति रखते हैं। यह काफी दुर्भाग्य की बात है कि एक शख्स की जान चली जाती है और सभी उसकी मौत पर राजनीति करते हैं? और कितना नीचे गिरना चाहते हैं? यह राजनीति का सबसे खराब स्तर है। यदि कोई खुद को मर्द कहलवाना पसंद करता है तो मर्द बनिए भी। उद्धव ठाकरे आगे पूछते हैं कि किसी व्यक्ति की मौत पर राजनीति कर के क्या दो मिनट की शोहरत पाना चाहते हैं? क्या सच में यह असली व्यक्तित्व है?

Kangana Ranaut

सुशांत की मौत के बाद एक्ट्रेस कंगना रनौत ( Kangana Ranaut ) ने महाराष्ट्र के ऊपर कई आरोप भी लगाए थे। जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार और कंगना के बीच जुबानी विवाद शुरू हो गया था। जिसके बाद बीएमसी ने कंगना के ऑफिस पर गुस्सा जाहिर किया था। वह इंटरव्यू में जब उद्धव ठाकरे से कंगना को लेकर प्रश्न पूछा तो उन्होंने उन पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि उनके पास इस मुद्दे पर बात करने का समय नहीं है। साथ ही कंगना का मुंबई की बेइज्जती करने पर उन्होंने बताया कि सभी राजनीति करना चाहते हैं।