अमिताभ बच्चन के कोरोना ट्वीट पर हंगामा!, लोगों ने ठहराया गलत, वायरल हुआ वीडियो किया डिलीट, जानें सच्चाई

Bhup Singh
| Updated: 27 Mar 2020, 10:51 AM IST
अमिताभ बच्चन के कोरोना ट्वीट पर हंगामा!, लोगों ने ठहराया गलत, वायरल हुआ वीडियो किया डिलीट, जानें सच्चाई
Amitabh Bachchan

अमिताभ बच्चन ने दिया कोरोना वायरस से बचाव के लिए ये खास सुझाव, लोगों ने बताया गलत तो वायरल वीडियो किया डिलीट, जानें वीडियो के दावे की सच्चाई....

 

 

कोरोना वायरस महामारी के बीच बॉलीवुड सितारें अपने फैंस और लोगों को सोशल मीडिया के जरिए लगाातर इससे पार पाने के लिए सुझाव और सावधानियां शेयर कर जागरूक कर रहे हैं। इस लिस्ट में अमिताभ बच्चन का नाम सबसे ऊपर लिया जा सकता है। वे सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने के साथ अपने फैंस के साथ कोरोना से जुड़ी जानकारी शेयर कर रहे हैं। इस बीच बिग बी का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। इसके बाद कई ऐसे दावे भी सामने आ रहे हैं कि अमिताभ इस वीडियो में गलत जानकारी दे रहे हैं। इस वीडियो में वे कह रहे हैं कि हमारा देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है और आप सबको इस लड़ाई महत्तवपूर्ण भूमिका निभानी है।

 

Amitabh Bachchan

मल में एक महीने तक जिंदा रहता है कोरोना वायरस
वीडियो में उनका कहना है कि क्या आप जानते हैं चीन के विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वायरस का मरीज ठीक होेने के बाद भी उनके मल में वायरस कई हफ्तों तक जिंदा रहता है और उसके मल पर अगर मक्खी बैठी और वो कही दूसरी जगह जाकर बैठती है तो इससे भी कोरोअगअगना फैलता है। इसलिए बहुत ही आवश्यक है कि कोरोना से लड़ने के लिए ठीक हुए मरीजों को कई हफ्तों तक अपने परिवार से अलग और सेल्फ आइसोलेशन में रहना चाहिए।

 

Amitabh Bachchan

इसलिए मचा बवाल
दरअसल, अमिताभ का यह वीडियो वायरल होने के बाद कई ऐसे दावे किए जा रहे हैं कि इस वीडियो में बिग बी गलत जानकारी दे रहे हैं। दावों में कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस रेस्पिरेटरी सीक्रिशन से होता है। ऐसे में कोराना मानव मल से कैसे फैल सकता है? कुछ इस वीडियो को शेयर कर रहे है तो कुछ जमकर आलोचना कर रहे हैं।

 

यह है सच्चाई
अमिताभ का कहना है कि मल में कोरोना वायरस कई हफ्तों तक पॉजिटिव रहता है जबकि स्टडी के मुताबिक, कुछ ऐसे मामले सामने आए हैं कि मानव के मल में वे निगेटिव आए जबकि श्वास सैंपल में वे पॉजिटिव पाए गए। लेकिन इस स्टडी में पाया गया कि मरीज जब श्वास सैंपल में निगेटिव हो जाए उसके बाद भी मल में करीब 5 हफ्तों तक पॉजिटिव रह सकता है। इस बात को समझाने के लिए अमिताभ बच्चन ने मक्खी-मच्छर के उदाहरण दिए हैं। इस स्टडी की खास बात है कि यह स्टडी कोविड के स्ट्रेन SARS-CoV-2 पर आधारित है।

coronavirus