scriptYou will get emotional knowing where Sanjay Dutt spent the money | संजय दत्त ने जेल में कमाए रुपए कहां किए खर्च, ये जानकर भावुक हो जाएंगे | Patrika News

संजय दत्त ने जेल में कमाए रुपए कहां किए खर्च, ये जानकर भावुक हो जाएंगे

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त करीब चार साल जेल में रह चुके हैं। साल 2013 से लेकर 2016 तक जेल में रह चुके हैं। वहा रहकर वो पुराने अखबार से पेपर बैग बनाते थे। एक्टर ने बताया था कि यह काम कर उन्होंने करीब 500 रुपये कमाए थे।इस बात का खुलासा एक्टर ने खुद ही किया है।

Updated: January 10, 2022 12:40:07 pm

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त करीब चार साल जेल में रह चुके हैं। साल 2013 से लेकर 2016 तक जेल में रह चुके हैं। संजय दत्त की लाइफ उतार- चढ़ाव भरी रही है। ड्रग्स से लेकर जेल जाने तक संजय दत्त की लाइफ में वो सब कुछ हुआ है जो नॉर्मली किसी हिंदी फिल्म में दिखाई देता है। आज इस स्टोरी में हम आपको उनसे जुड़ी कुछ बाते बताएगें। जिसे सुन आप भी दंग रह जाएंगे।
sanjay_dutt.jpg
यह भी पढ़े- मलाइका अरोड़ा से लेकर शिल्पा शेट्टी तक, 45 साल पास होने के बाद भी फ़िटनेस और हॉटनेस से लगाती हैं आग

साल 2013 से लेकर 2016 तक जेल में रह चुके हैं बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त । जेल से छूटने के बाद साल 2018 में संजय दत्त एक चैट शो में पहुंचे हुए थे। वहां इन्होने इस बात का खुलासा खुद से ही किया था की कैसे उन्होंने जेल में रहकर पेपर बैग्स बनाए थे और इससे लगभग 500 रुपए की कमाई की थी।साथ ही संजय ने इस बात का खुलासा भी किया था की वह इस पैसे का बाद में क्या किया था।
यह भी पढ़े- Saif Ali Khan अपनी पत्नी को नहीं बल्कि इस हसीना को मानते हैं हॉट

संजय दत्त एक चैट शो मे कहा था ‘’हम वहां पेपर बैग्स बनाते थे, यह बैग्स अखबार की रद्दी से बनाए जाते थे. मुझे प्रति बैग 20 पैसे मिलते थे और दिनभर में मैं ऐसे 50 से लेकर 100 बैग तक बना लिया करता था’’। जब संजय दत्त से पूछा गया कि आपने इन पेपरबैग्स से कितने रुपए कमाए ? तो एक्टर ने कहा, ‘इन तीन चार सालों तक, जब मैं वहां था उस दौरान लगभग 400-500 रुपए कमाए थे’। संजय दत्त ने आगे यह भी बताया था कि यह पैसे उन्होंने जेल से बाहर आने के बाद वाइफ मान्यता दत्त को दे दिए थे।
sanjay.jpgसंजय दत्त जेल से आने के बाद कई सारें फिल्में भी की जैसे किपृथ्वीराज, द गुड महाराजा, शमशेरा और अन्य कई सारी फिल्मों में नजर आए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.