Hyundai Kona होगी सरकार की नई सवारी, महिंद्रा और टाटा की गाड़ियों की खरीद हुई बंद

सरकार ने अचानक से हुंडई कोना की आर्डर दिया है। देश के राज्य ऊर्जा मंत्री राज कुमार सिंह तथा एनटीपीसी के मैनेजिंग डॉयरेक्टर गुरदीप सिंह ने कोना का उपयोग करना शुरू भी कर दिया है।

By: Pragati Bajpai

Updated: 21 Oct 2019, 04:28 PM IST

नई दिल्ली: पूरी दुनिया में इलेक्ट्रिक कारों पर जोर दिया जा रहा है। हमारे देश में भी सरकार इन कारों को बढ़ावा देने के लिए तरह-तरह के कदम उठा रही है । इन्ही में से एक कदम था सरकारी तंत्र द्वारा इलेक्ट्रिक कारों का उपयोग। सरकार अभी तक महिन्द्रा और टाटा की ई कारों का इस्तेमाल करती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। दरअसल सरकार ने अचानक से हुंडई कोना की आर्डर दिया है। देश के राज्य ऊर्जा मंत्री राज कुमार सिंह तथा एनटीपीसी के मैनेजिंग डॉयरेक्टर गुरदीप सिंह ने कोना का उपयोग करना शुरू भी कर दिया है।

300cc सेगमेंट में तहलका मचाएगा हीरो मोटोकॉर्प, लॉन्च करेगा 4 नई बाइक्स

इस वजह से kona पर शिफ्ट हुई सरकार-

टाटा व महिंद्रा की कारों की बजाये इसका उपयोग करने के पीछे का कारण उन कारों की कमियों को बताया जा रहा है। टाटा टिगोर में अचानक से बैटरी कम होने, एसी कूलिंग, पिक-अप तथा चार्ज होने जैसी समस्या आ रही थी, इस वजह से सिर्फ 500 टाटा टिगोर लेने के बाद इसकी खरीदी बंद कर दी गयी है। महिंद्रा से 1000 ई-वेरिटो सरकार द्वारा ली गयी है लेकिन बेकार परफॉर्मेंस व कम माइलेज के चलते इसकी भी खरीदी बंद कर दी गयी है।

हालांकि दोनो कंपनियां इन कमियों से इंकार कर रही है।

ज्यादा सुरक्षित हुई Maruti की ये कार, 22 किमी का माइलेज और कीमत 3.61 लाख रूपए

kona_pic.jpg

यहां ध्यान देने लायाक बात ये है कि सरकार के लिए इलेक्ट्रिक गाड़ियां खरीदना eecl की जिम्मेदारी है और कहा है कि जबतक कंपनियां अपनी कमियां दूर नहीं करती सरकार उन गाड़ियों का उपयोग नहींम करेगी।

आपको मालूम हो कि hyundai kona की कीमत इन दोनों गाड़ियों से ज्यादा है और ये जुलाई के महीने में ही मार्केट में आई है। पॉवर और परफार्मेंस की बात करें तो इसमें 39.2 kWh की बैटरी लगाई गयी है। जो सिंगल चार्जिंग में 452 किमी का सफर तय कर सकती है।

नए ड्राइविंग लाइसेंस के लिए देना होगा मोबाइल नंबर, जानें कैसे करना होगा अपडेट

वहीं ईईसीएल के एमडी ने हुंडई कोना की तारीफ करते हुए कहा कि कोना की बैटरी अन्य इलेक्ट्रिक कार (टिगोर व ई-वेरिटो) के मुकाबले तीन गुना बड़ी है। यह सिर्फ 40 पैसे/किमी के खर्च पर चलती है।

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned