एशिया के सबसे रईस आदमी मुकेश अंबानी ने खरीदी 'सेकेंड हैंड कार', जानें क्या है वजह

एशिया के सबसे रईस आदमी मुकेश अंबानी ने खरीदी 'सेकेंड हैंड कार', जानें क्या है वजह

Pragati Vajpai | Updated: 13 Sep 2019, 03:05:57 PM (IST) कार रिव्‍यूज

दुनिया के सबसे रईस लोगों ने नाम दर्ज कराने के बावजूद मुकेश अंबानी को सेकेंड हैंड कार खरीदनी पड़ रही है। इस फैसले के पीछे की वजह आपको चौंका देगी

नई दिल्ली : मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर आदमी है और उनकी हर बात चाहें वो बेटे की शादी हो या ड्राइवर की सैलेरी सुर्खियां बनाती है । लेकिन अब हम जो आपको बताने वाले हैं वो आपने सपने में भी नहीं सोचा होगा । दरअसल अरबों-खरबों के मालिक मुकेश अंबानी ने हाल ही में सेकेंड हैंड़ कार खरीदी है। जी हां, सही पढ़ा आपने । वैसे तो अंबानी के गैराज में रोल्स रॉयस कलिनन, लैम्बोर्गिनी उरुस, बेंटले बेंटायगा और टेस्ला मॉडल 100 डी जैसी कारें शामिल है, लेकिन उनके पास एक सेकेंड हैंड कार भी है।

एसयूवी सेगमेंट के लिए APPOLO TYRES लाया ये टायर, खास है इनकी टेक्नोलॉजी

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर अंबानी को सेकेंड हैंड कार क्यों खरीदनी पड़ी तो आपको बता दें कि मुकेश अंबानी के पास एक सेकेंड हैंड टेस्ला मॉडल एस 100 भी है। इस गाड़ी को हाल ही में मुंबई में देखा गया था। और पता करने पर पता चला कि यह टेस्ला मॉडल एस100डी "रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड" से रजिस्टर है। लेकिन रिलायंस इंडस्ट्रीज इसके दूसरे मालिक के तौर पर रजिस्टर है यानि ये कार पहले किसी और ने खरीदी है।

TVS Radeon का स्पेशल एडीशन हुआ लॉन्च, एक बार टंकी फुल कराने पर चलेगी 690 किमी

tesla_car_pap.jpg

इस नियम की वजह से खरीदनी पड़ी सेकेंड हैंड कार-

दरअसल ये कार इंपोर्ट की गई है और इंपोर्टेड कारों को पहले इंपोर्ट करने वाली कंपनी के नाम पर रजिस्टर किया जाता है । इसके बाद इस कार को इसके मालिक के नाम पर ट्रांसफर किया जाता है । यही वजह है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड" इस कार के सेकेंड मालिक के तौर पर रजिस्टर है। यहां तक कि मैकलेरन और एस्टन मार्टिन जैसी कारें, जो भारत में आधिकारिक रूप से नहीं बेची जाती हैं, उसी तरह से आयात की जाती हैं और असली खरीदार आधिकारिक तौर पर पंजीकरण पत्र पर दूसरे मालिक होते हैं।

मात्र 999 रुपए में घर ले जा सकते हैं bajaj की ये बाइक, 1 लीटर में चलती है 104 किमी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये कार अमेरिका में $ 99,990 में तो भारतीय रुपये में लगभग 73 लाख रुपये की कीमत रखती है। लेकिन आयात करने के बाद 100% से अधिक के आयात कर पेमेंट के बाद इसकी लागत लगभग 1.5 करोड़ रुपये होगी। चलिए अब हम आपको इस कार की कुछ खास बातें बताते हैं।

tesla-model-s.jpg

इंजन और पॉवर-

इस गाड़ी में लगा इलेक्ट्रिक मोटर मैक्सिमम 423 पीएस की पॉवर और 660 एनएम का टॉर्क पैदा करती है। इसमें 100 किलोवाट की बैटरी मिलती है और फास्ट चार्जिंग कैपाासिटी से इसे केवल 42 मिनट में 396 किमी तक की रेंज में चार्ज किया जा सकता है। स्पीड की बात करें तो टेस्ला मॉडल एस 100 डी 250 किमी / घंटा की इलेक्ट्रॉनिक रूप से सीमित टॉप-स्पीड तक पहुंच सकता है। और 0-100 की स्पीड पर पहुंचने के लिए इसे मात्र 4.3 सेकेंड लगते हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned