तमिलनाडु में नाइट कर्फ्यू का पहला दिन: कई शहरों में दिखा असर, जल्द सिमटने लगा बाजार

चेन्नई का मरीना बीच, अडयार, टी नगर, पांडि बाजार, तिरुवांम्यूर और अन्य इलाका रात 10 बजे के बाद वीरान हो गया।

By: PURUSHOTTAM REDDY

Updated: 21 Apr 2021, 03:05 PM IST

चेन्नई.

राजधानी चेन्नई सहित पूरे राज्य में मंगलवार को रात्रि कफ्र्यू का पहले दिन ही व्यापक असर दिखा। कोरोना के नए स्ट्रेन के खतरे को देखते हुए शुरू हुए नाइट कफ्र्यू का मंगलवार को पहला दिन था। चेन्नई, मदुरै, तिरुचि और कोयम्बत्तूर और सेलम जैसे बड़े शहरों में पूरी रात चेकिंग हुई। आम रातों में गुलजार रहने वाले इन शहरों में सन्नाटा पसरा नजर आया। हालांकि, चेन्नई में सडक़ों पर निकले सैकड़ों लोगों का चलान भी हुआ और उन्हें जबरन वापस घर भेजा गया।

दस बजे से बंदी के लिए कारोबार समेटा जाने लगा। अधिकतर इलाकों में 9 बजे तक शटर गिर चुके थे। वहीं, नौ बजे से पहले ही प्रमुख चौराहों से लेकर बाजारों तक पुलिस टीमें मुस्तैद हो गई। पुलिस की गाडिय़ों से एनाउंसमेंट कर लोगों को रात्रि कफ्र्यू की सूचना देकर घर जाने की अपील करने के साथ ही बेवजह घूमने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई। विदित हो कि रविवार को मुख्यमंत्री पलनीस्वामी ने कोरोना महामारी को रोकने के लिए बड़े फैसलों की घोषणा की थी, जो मंगलवार से लागू हो गए हैं।

चेन्नई में चारों ओर पसरा सन्नाटा
चेन्नई का मरीना बीच, अडयार, टी नगर, पांडि बाजार, तिरुवांम्यूर और अन्य इलाका रात 10 बजे के बाद वीरान हो गया। कफ्र्यू के नियम पालन करवाने के लिए पूरी चेन्नई में हजारों सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। नाइट कफ्र्यू लगने के बाद चेन्नई में पुलिस के अलग-अलग इलाकों में सघन चेकिंग अभियान चलाया, ताकि बिना वजह के घूम रहे लोगों को रोका जा सके।

चेन्नई में निगरानी के लिए 200 चेकपोस्ट
कफ्र्यू के दौरान सभी नियमों का पालन करने के लिए महानगर में 200 चेकपोस्ट बनाए गए है। नियमों की अनदेखी व मास्क न लगाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। निगरानी व कार्रवाई के लिए कई टीमों का गठन किया गया है। पुलिस आयुक्त महेश कुमार अग्रवाल ने बताया कि सिर्फ आकस्मिक जरूरत पर ही लोगों को छूट दी जाएगी। मंगलवार से जो भी बिना मास्क दिखेगा उसके खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी। किसी भी तरह का आयोजन नहीं होगा।

फ्लाइट, ट्रेन व सडक़ यातायात सामान्य
नई गाइडलाइन के पहले दिन फ्लाइट, ट्रेन व सडक़ यातायात सामान्य हैं। हां, उनका परिचालन शारीरिक दूरी के पालन, सैनिटाइजेशन व मास्क पहनने पर एंट्री की शर्तों के साथ किया जा रहा है। बसों, ट्रेनों व फ्लाइट से आने वाले यात्रियों की संक्रमण की जांच की जा रही है।

PURUSHOTTAM REDDY
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned