चालक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज, तीन कांस्टेबल लाइन हाजिर

24 घंटे बाद हुआ पोस्टमार्टम: बजरी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली से छात्र की मौत का मामला

By: Mahesh Jain

Published: 13 Oct 2020, 09:36 PM IST

लालसोट(दौसा). उपखण्ड के विजयपुरा गांव में सोमवार सुबह बजरी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली की टक्कर से मृतक छात्र का चौबीस घंटे बाद मंगलवार सुबह पोस्टमार्टम किया गया। सोमवार देर रात प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों, भाजपा नेताओं व ग्रामीणों के बीच मांगों को लेकर सहमति के बाद धरना समाप्त कर शव के पोस्टमार्टम के लिए सहमति बनी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए लालसोट मोर्चरी पहुंचाया। मंगलवार सुबह मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करने के बाद परिजनों को सुपुर्द कर दिया। वहीं मामले को लेकर मृतक के चाचा ने बजरी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली के चालक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है।

कार्यवाहक एसएचओ महावीर प्रसाद ने बताया कि मृतक के चाचा ने रिपोर्ट दी है कि उसका भतीजा संजय सोमवार सुबह अपने पिता को बाइक से शिवसिंहपुरा छोड़ कर गांव रुंगटी लौट रहा था। विजयपुरा गांव के पास वह रोड पर बाइक रोककर खड़ा था। इसी दौरान सामने से आ रही बजरी से भरी टै्रक्टर-ट्रॉली ने जान-बूझकर संजय को टक्कर मार दी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। थाना प्रभारी ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इधर, ग्रामीणों के हंगामे व मांग के बाद तीन कांस्टेबलों को भी लाइन हाजिर किया गया है। लालसोट सीओ सतीश यादव ने बताया कि मौखिक आदेशों के चलते मंगलवार सुबह लालसोट थाने के तीन कांस्टेबल रामकेश, दिलीप व नरसी को लाइन में भेजा गया है।

मांगों पर सहमति के बाद हुआ आंदोलन समाप्त
विजयपुरा गांव में सोमवार सुबह बजरी भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली द्वारा 17 वर्षीय किशोर संजय बैरवा को कुचले जाने के बाद फूटा ग्रामीणों का रोष आधी रात को मांगों पर सहमति बनने के बाद ही शांत हुआ। रात्रि करीब नौ बजे भाजपा नेता जितेन्द्र गोठवाल और ग्रामीणों की जिला कलक्टर पीयूष समारिया के बीच मांगों को लेकर सहमति नही बनने के बाद भाजपा नेताओं ने दोबारा विजयपुरा गांव पहुंचकर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया था। बाद में जिला पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल, गंगापुर सिटी के पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर और भाजपा के जिला अध्यक्ष डॉ. रतन तिवाड़ी भी बड़कापाड़ा गांव स्थित ग्राम सेवा सहकारी समिति कार्यालय पर पहुंच गए।

रात्रि करीब 11 बजे दोबारा वार्ता का दौर शुरू हुआ। मांगों पर सहमति बनने के बाद भाजपा नेताओं व ग्रामीणों ने घटना स्थल पर पहुंचकर इस बारे में जानकारी दी। इसके बाद ग्रामीणों ने आंदोलन समाप्त कर दिया। भाजपा नेता जितेेन्द्र गोठवाल ने बताया कि जिला कलक्टर व एसपी की मौजूदगी में मृतक छात्र के परिवार को पांच लाख रुपए की सरकारी सहायता, इंद्रा आवास योजना से आवास, मेड़बंदी व एकलबिंदु के लिए करीब चार लाख रुपए, हत्या का मामला दर्ज, लालसोट थाने के चार कांस्टेबल व थानेदार को लाइन हाजिर करने, बजरी के स्टॉक को जब्त करने, हल्का पटवारियों के खिलाफ कार्रवाई व एक आश्रित को संविदा पर नौकरी देने की मांग पर सहमति बनी है।

वहीं एसडीएम गोपाल जांगिड़ ने बताया कि मृतक के परिवार को एक लाख रुपए मुख्यमंत्री सहायता कोष के साथ कुल पांच लाख रुपए की सरकारी सहायता और इंद्रा आवास योजना से आवास, मेड़बंदी व एकल बिंदु के लिए राशि देने की सहमति बनी है। इसके अलावा थानेदार व चार कांस्टेबल को भी लाइन हाजिर करने पर सहमति बनी थी। इनमें से कांस्टेबलों को तो लाइन भेजे जाने की सूचना है। वार्ता के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर लोकेश कुमार मीना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिलसिंह चौहान, भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष विक्रम डोई, भाजपा नेता हरकेश मटलाना, शिवशंकर जोशी आदि मौजूद रहे।


जांच के लिए पहुंचे पुलिस अधिकारी

हादसे व हंगामे के बाद जांच के लिए जयपुर से एएसपी रेंक के पुलिस अधिकारी मुस्तफा अली जैदी भी लालसोट पहुंचे। उन्होंने घटना स्थल का निरीक्षण किया एवं एसएचओ से मामले की जानकारी ली। एसएचओ महावीर प्रसाद ने बताया कि पुलिस पर हुए पथराव के बारे में प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश मिल चुके हैं। प्राथमिकी दर्ज की जा रही है।

बजरी से भरे वाहन गायब

विजयपुरा गांव में सोमवार सुबह बजरी से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली से मौत की घटना के बाद से ही कार्रवाई के डर से बजरी परिवहन माफिया में खलबली मची हुई है। क्षेत्र की सड़कोंं से सोमवार सुबह से बजरी से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली, डंपर व ट्रेलर गायब रहे।


पुलिस बल पर पथराव, राजकार्य में बाधा व रास्ता अवरुद्ध करने के आरोप में 300 के खिलाफ मुकदमे दर्ज

लालसोट उपखण्ड के विजयपुरा गांव में सोमवार को बजरी भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली से एक छात्र को कुचले जाने के बाद हुए हुए घटनाक्रम को लेकर लालसोट थाना पुलिस ने पूर्व संसदीय सचिव समेत 300 जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने प्राथमिकी में भाजपा नेता शिवशंकर जोशी, मृतक छात्र के ताऊ व चाचा समेत करीब दो दर्जन लोगों को नामजद भी किया है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस बल पर पथराव करने, राजकार्य में बाधा डालने ,रास्ता अवरुद्ध करने समेत कई धाराओं व आपदा प्रबंधन अधिनियमत के तहत मामला दर्ज किया है।


लालसोट थाने के एएसआई लक्ष्मण बैरवा ने मामला दर्ज कराते हुए बताया कि घटना के दौरान लालसोट सीओ व एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर जब समझाइश करने का प्रयास किया तो भीड़ आक्रोशित हो गई और जितेंद्र गोठवाल, शिवशंकर उर्फ बल्या जोशी, शिवलाल, लोकेश, मुकेश, पांचू पुत्र गोविंद, बाबूलाल, विकास, रामकिशोर, प्रहलाद, पांचू पुत्र रामसहाय, राजेश मीना, कालूराम, दिलखुश, वीरेंद्र उर्फ बुल्टन, अजय लाकड़ा, मुकेश शर्मा, अभिषेक, गोपाल, मनीष, मृतक का चाचा रमेश और ताऊ करीब ढाई से तीन सौ लोगों के साथ आक्रोशित होकर लाश को हाइवे जाम करने के लिए ले जाने लगे। पुलिस बल शव को हाइवे पर ले जाने से रोकने का प्रयास किया तो जाप्ते के ऊपर पथराव कर दिया तथा खेतों से मिट्टी के ढेले पुलिस जाब्ते पर फेंके।

शिवशंकर जोशी ने सड़क किनारे से पत्थर उठाकर फेंक दिया। इससे कांस्टेबल महेंद्र के हाथ व नरेश की छाती पर पत्थर लगे। इस दौरान मिट्टी के ढेले सीओ व अन्य जाप्ते को भी लगे। प्राथमिकी में बताया है कि बार-बार हिदायत के बाद भी कोविड-19 के तहत सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करते हुए करीब 250 से 300 व्यक्ति एक ही जगह पास-पास बैठे थे। आरोपियों ने राजकार्य में बाधा उत्पन्न करते हुए आम सड़क रोककर जाम लगाते हुए आवागमन का विरोध किया है। पुलिस ने मामले को आईपीसी की धारा 143, 332, 353, 336, 283 व 51 बी आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत दर्ज करते हुए जांच एएसआई सीताराम को सुपुर्द की है।

चालक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज, तीन कांस्टेबल लाइन हाजिर
Mahesh Jain Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned