कोरोना ने बदले शादी समारोह के नियम-कायदे

- खुशियों के बीच कहीं मुसीबत न गले लग जाए

By: Rajendra Jain

Published: 21 Nov 2020, 08:00 PM IST

दौसा. जिले में कोरोना महामारी के बीच अनलॉक-5 में प्रशासन ने शादी समारोह की अनुमति तो दी है, लेकिन 100 लोगों की संख्या के साथ। प्रशासन की अनुमति के बाद लोग वैवाहिक समारोह की तैयारियों में लग गए हैं। हालांकि जिन घरों में मांगलिक कार्यक्रम होने हैं, उनमें कोरोना का डर अब भी बरकरार है। इसलिए बारात घर से लेकर होटल की बुकिंग को लेकर पूरी एहतियात बरती जा रही है। समारोह स्थल पर 100 लोगों के बीच सामाजिक दूरी कायम रह पाएगी कि नहीं, सेनेटाइजर आदि के इंतजाम हैं कि नहीं। इनकी पड़ताल करने के बाद ही बुकिंग पक्की की जा रही है।
जिन घरों में शादी समारोह या फिर अन्य मांगलिक कार्यक्रम होने हैं। उनके यहां पर नियम और कायदे बनने लगे हैं। विवाह में किसे बुलाया जाए, कौन सा मैरिज लॉन या फिर होटल बुक किया जाए। इस पर मंथन शुरू हो गया है। उधर, कोरोना को लेकर बारात घर और होटल मालिक भी पूरी सतर्कता बरत रहे हैं। इस मामले में कोई कोर कसर छोडऩा नहीं चाहता। दोनों ओर से बरती जा रही एहतियात से इस बार विवाह आदि में होने वाली दावतें कुछ अलग ही अंदाज में होंगी। इधर, जिन घरों में वैवाहिक समारोह का आयोजन है वह एवं इसमें शामिल होने वालों ने भी नियम बनाए हैं। ताकि खुशियों के बीच कहीं मुसीबत न गले लग जाए।


कोरोना के डर से एहतियात के साथ होंगे शामिल
लॉकडाउन के दौरान हुए वैवाहिक समारोहों में शामिल कुछ लोगों के संक्रमित होने की खबर से लोग भीड़ भाड़ वाले आयोजन में जाने से कतरा रहे हैं। जिन घरों में शादी विवाह की तैयारी हो रही है या फिर किसी वैवाहिक समारोह में शामिल होने का मन बनाया जा रहा है। वह सभी बेहद सावधानी बरतने का मन बना चुके हैं।


सुरक्षा किट के साथ नजर आएंगे वेटर
कोरोना काल में वैवाहिक समारोह की दावतों में वेटर भी सुरक्षा किट में नजर आएंगे। बारात घर एवं होटल मालिकों ने इसके लिए अलग से गाइड लाइन बनाई है। मेहमानों को खाने परोसने के लिए वेटर को ग्लब्स, मास्क, कैप उपलब्ध कराए जाएंगे। यही नहीं बराात घर मालिक बुकिंग के लिए आने वालों को समारोह के दौरान कोरोना गाइड लाइन का पालन करने का सहमति पत्र भरवा रहे हैं।


लोगों की पसंद बना खुला मैदान
संक्रमण के दौर में वैवाहिक कार्यक्रम को लेकर लोगों की पहली पसंद खुले मैदान वाले लॉन बन रहे हैं। लोगों का मानना है कि मैैदान खुला होने से लोगों के बीच सामाजिक दूरी कायम रख पाना मुमकिन होगा। हालांकि होटल से लेकर बारात घर तक के मालिकों का कहना है कि फिलहाल तो सरकार ने ही संख्या सीमित कर रखी है। फिर भी हम लोग बुकिंग के दौरान मेहमानों की संख्या मालूम कर लेते हैं और बता भी देते हैं कि सामाजिक दूरी को लेकर मौके पर उतनी ही कुर्सियां उपलब्ध कराई जाएंगी।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned