जद्दोजहद के बाद ली कोरोना संक्रमित युवती की परीक्षा

Corona infected woman's examination after struggle in dausa: - केन्द्रों के बाहर उड़ी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

By: gaurav khandelwal

Published: 16 Sep 2020, 07:46 PM IST

दौसा. जिले में बुधवार को आयोजित पीटीईटी एवं बीए-बीएड तथा बीएससी बीएड परीक्षा 2020 के दौरान केन्द्रों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती नजर आई। कोरोना एडवाइजरी की पालना कराने वाले कोई नजर नहीं आए। परीक्षा की मजबूरी के चलते अभ्यर्थी भी कोरोना को लेकर सतर्क नहीं दिखे। वहीं दौसा शहर के सैंथल मोड़ स्थित उच्च प्राथमिक आदर्श विद्या मंदिर परीक्षा केन्द्र में एक कोरोना संक्रमित युवती को परीक्षा देने के लिए काफी जद्दोजहद करनी पड़ी। आखिर में करीब दस मिनट देरी से छात्रा को केन्द्र में प्रवेश दिया गया।

Corona infected woman's examination after struggle in dausa


जानकारी के अनुसार महेश्वरा निवासी कोरोना संक्रमित युवती को पीटीईटी की परीक्षा देनी थी। कॅरियर का सवाल होने के कारण उसने जिला कलक्टर से परीक्षा देने की अनुमति मांगी। कलक्टर ने तुरंत सीएमएचओ को व्यवस्था करने के निर्देश दिए। इसके बाद एम्बुलेंस से छात्रा को सैंथल मोड़ मधुवन विहार कॉलोनी स्थित उच्च प्राथमिक आदर्श विद्या मंदिर परीक्षा केन्द्र पर भेज दिया गया। परीक्षा केन्द्र प्रशासन ने कोरोना संक्रमित युवती को प्रवेश देने में आनाकानी की। कभी सूचना नहीं होने की तो कभी पीपीई किट नहीं होने की बात कही। फिर एम्बुलेंस में परीक्षा देने की बात करने लगे। मौके पर मीडिया के पहुंचने पर आला अधिकारियों तक मामला पहुंचा। आखिरकार परीक्षा चालू होने के करीब दस मिनट बाद छात्रा को अंदर प्रवेश दिया गया। छात्रा ने बताया कि वे करीब 2.15 बजे पहुंच गए थे, लेकिन केन्द्र में स्टाफ के आनाकानी करने के कारण करीब 3.10 बजे अंदर बैठाया गया।

Corona infected woman's examination after struggle in dausa


इधर, केन्द्र के ऑब्जर्वर महेश मीना ने बताया कि उनके पास पीपीई किट नहीं था और ना ही कोई हेल्थ वर्कर आया। पहले सूचना भी नहीं थी। ऐसे में अन्य परीक्षार्थियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी हमारे ऊपर थी। बाद में पीपीई किट आने पर छात्रा को अंदर बैठाकर परीक्षा दिलवा दी गई।


परीक्षा के जिला समन्वयक डॉ. ओमप्रकाश मीना ने बताया कि चिकित्सा विभाग से अनुमति के चलते छात्रा को कुछ देर रोकना पड़ा। बाद में परीक्षा दिलवा दी गई। इधर, सीएमएचओ डॉ. पीएम वर्मा ने बताया कि जिला कलक्टर के निर्देश मिलते ही छात्रा को अनुमति देकर अस्पताल से एम्बुलेंस के माध्यम से केन्द्र पर भिजवा दिया था। केन्द्र पर आनाकानी की सूचना मिलते ही छात्रा को प्रवेश दिलवा दिया गया।

2114 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे
जिले में प्रथम पारी में सुबह 9 से 12 बजे तक 34 केन्द्रों पर बीएससी बीएड व बीए बीएड के अभ्यर्थियों की परीक्षा हुई। इमसें कुल 9303 में से 8112 उपस्थित हुए। 1 हजार 191 अभ्यर्थी गैर हाजिर रहे। परीक्षा के जिला समन्वयक डॉ. ओमप्रकाश मीना ने बताया कि दूसरी पारी में पीटीईटी 46 केन्द्रों पर दोपहर 3 से 6 बजे तक आयोजित की गई। इसमें 11 हजार 935 में से 11 हजार 12 अभ्यर्थी शामिल हुए। 923 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। उन्होंने बताया कि केन्द्र में कोरोना गाइड लाइन की पूरी तरह पालना की गई। सेनेटाइजर का इंतजाम किया। कई जगह स्केनिंग भी की। मास्क लगाने पर ही अभ्यर्थी को अंदर प्रवेश दिया गया। प्रशासन के अधिकारियों ने भी केन्द्रों का जायजा लिया। पुलिसकर्मी भी तैनात रहे।

केन्द्रों के बाहर मेले जैसा नजारा
केन्द्र के अंदर भले ही कोरोना गाइड लाइन की पालना का दावा किया जा रहा है, लेकिन बाहर का नजारा विपरीत था। केन्द्र के बाहर मेले जैसा नजारा था। बोर्ड पर बैठक व्यवस्था देखने के लिए छात्र मारामारी करते दिखे। वहीं परीक्षा छूटने के बाद आगरा रोड, गांधी तिराहा, लालसोट रोड सहित अन्य जगह यातायात बाधित हो गया। बड़ी संख्या में परिजन निजी वाहनों से परीक्षार्थियों को लेने आए।

Corona infected woman's examination after struggle in dausa

Corona virus corona virus in india
gaurav khandelwal Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned