लालसोट पालिका चेयरमैन पद के टिकट को लेकर फूटा असंतोष

एक कांग्रेस पार्षद ने किया निर्दलीय नामांकन दाखिल

By: Rajendra Jain

Published: 16 Dec 2020, 10:57 AM IST

लालसोट. नगर पालिका चुनावों में कांग्रेस व भाजपा को बराबर की सीटें मिलने के बाद पालिकाध्यक्ष पद के लिए चुनावों में मंगलवार को एक नया पेंच फंस गया है। कांग्रेस में चेयरमैन पद के लिए टिकट वितरण को लेकर असंतोष फूट पड़ा और कांग्रेस की एक महिला पार्षद ने बाड़ेबंदी को तोड़कर दो निर्दलीय पार्षदों के साथ लालसोट नगर पालिका कार्यालय पर पहुंचकर मंगलवार दोपहर नामांकन दाखिल कर दिया। मंगलवार दोपहर करीब डेढ़ बजे वार्ड 8 से निर्वाचित पार्षद पिंकी चतुर्वेदी दर्जनों समर्थकों व दो निर्दलीय पार्षद विष्णु साहू और हंसराज सैनी के साथ नगर पालिका कार्यालय पर जा पहुंची। समर्थकों की नारेबाजी के बीच निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अपना नामांकन दाखिल कर दिया।
इसके बाद वह पति सोनू बिनोरी दोनों निर्दलीय पार्षदों के साथ कार्यालय से रवाना हो गए। गौरतलब है कि लालसोट नगर पालिका चुनावों में इस बार कांग्रेस व भाजपा को 13-13 सीटें मिली हैं। इसके अलावा 9 पार्षद निर्दलीय निर्वाचित हुए हैं। रविवार को मतगणना के बाद से ही कांग्रेस व भाजपा के बीच निर्दलीय पार्षदों को अपने अपने खेमों में शामिल करने के लिए जोड़-तोड़ की राजनीति जोर शोर से जारी थी। इस दौरान कांग्रेस के खेमे में सात निर्दलीय पार्षद भी पहुंच चुके थे।
इसके बाद रक्षा मिश्रा, पिंकी चतुर्वेदी और अदिति झालानी ने पालिकाध्यक्ष पद के टिकट के लिए दावेदारी भी जताई, लेकिन अध्यक्ष पद के टिकट को लेकर सभी एक राय नहीं बनी और कांग्रेस में असंतोष फूट पड़ा।
पर्ची से हुआ मतदान, रक्षा मिश्रा को मिले दस मत :
पालिका अध्यक्ष पद के टिकट के लिए दावेदारी कर रही तीन महिला प्रत्याशियों के बीच एक राय बनाने के लिए बीते दो दिनों से लगातार कवायद हो रही थी। इस दौरान कई स्थानीय नेताओं ने तीनों दावेदारों की समझाइश का प्रयास भी किया, लेकिन तीनों ही महिला पार्षद अपनी अपनी दावेदारी पर अडिग़ रहीं। इस दौरान कांग्रेस टिकट से जीते सभी 13 पार्षदों के बीच पर्ची से मतदान कराते हुए अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी का चयन करने का निर्णय किया गया। उद्योग मंत्री परसादीलाल मीना ने बताया कि पार्षदों की पर्ची से रक्षा मिश्रा को अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी बनाया गया है।


कांग्रेस में डेमेज कंट्रोल का दौर शुरू
लालसोट. नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस पार्षद पिंकी चतुर्वेदी द्वारा निर्दलीय नामांकन दाखिल किए जाने के बाद उपजे हालात के बाद कांग्रेस में डेमेज कंट्रोल भी शुरू हो गया है, वहीं इस पूरे घटनाक्रम पर भाजपा भी निगाहे लगा कर अपनी आगामी रणनीति पर काम करना भी शुरू कर दिया है। चतुर्वेदी द्वारा निर्दलीय नामांकन भरने के बाद अब कांग्रेस में मनाने का दौर भी शुरू हो गया है। उनके खेमे में तीन निर्दलीय पार्षद हैं। इसके चलते मंगलवार दोपहर तक बहुमत के आश्वस्त कांग्रेसी नेताओं के चेहरों पर अब चिंता की लकीरें दौडऩे लगी है। सूत्रों के अनुसार पिंकी चतुर्वेदी व उनके पति सोनू बिनोरी को मनाने की कोशिश अब कांग्रेस के अंदर शुरू हो गई है। जिससे चतुर्वेदी व उनके साथ मौजूद तीन निर्दलीय पार्षद के मत कांग्रेस प्रत्याशी रक्षा मिश्रा को मिल सके। इधर, कांग्रेस में असंतोष की आवाजें आने के बाद अब भाजपा नेताओं को भी उम्मीद की किरण नजर आने लगी है।

तीन निर्दलीय पार्षद साथ होने का दावा
नामांकन दाखिल करने पहुंची कांग्रेस पार्षद पिंकी चतुर्वेदी के पति सोनू बिनोरी ने पत्रकारों को बताया कि पार्षदों की सहमति के नाम पर उन्हें गुमराह किया गया है। कांग्रेस के आठ से नौ पार्षद उनके साथ थे, लेकिन पर्चियों को बदलकर दस पर्चियों में एक ही पार्षद का नाम लिख दिया। दूसरी ओर कांग्रेस पार्षद पिंकी चतुर्वेदी के संपर्क में तीन पार्षद बताए जा रहे हैं।

एक निर्दलीय पार्षद को परिजनों ने की रोकने की कोशिश
पिंकी चतुर्वेदी के नामांकन बाद निर्दलीय पार्षद विष्णु साहु को दोबारा काफिले में शामिल गाडिय़ों बिठा कर ले जाया जा रहा था, उनके भाई व अन्य परिजनों ने उन्हे रोकने की कोशिश की। विष्णु के भाई विजेन्द्र साहू ने एक कार के आगे आकर रोकने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो सके।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned