निजी हॉस्पिटल में नवजात की मौत, परिजनों ने जताया रोष

लापरवाही

By: Rajendra Jain

Published: 18 Dec 2020, 02:17 PM IST

लालसोट (दौसा). शहर के कोथून रोड स्थित एक निजी हॉस्पिटल में गत दिनों हुए एक प्रसव में जन्मे नवजात की मौत को लेकर गुरुवार को प्रसूता के परिजनों ने हॉस्पिटल पहुंच कर रोष जताया और प्रसव के बाद लापरवाही करने का आरोप लगाया। जानकारी के अनुसार शहर की मोडल्या कॉलोनी निवासी एक परिवार के सदस्य व कुछ जने निजी हॉस्पिटल पर जा पहुंचे। इस दौरान ललित शर्मा का कहना था कि उनके भाई की पत्नी को प्रसव के लिए 15 दिसम्बर को सुबह भर्ती कराने पर उसी दिन शाम को डिलेवरी भी हो गई थी।
इसके बाद नवजात के फिडिंग नही करने पर उन्होंने बताया तो नर्स को भेजा, नर्स ने मुंह में ऊंगली देकर बताया कि बच्चा फिडिंग कर लेगा और प्रसूता व नवजात को अगले ही दिन डिस्चार्ज भी कर दिया। ललित का कहना था कि नवजात को किसी शिशु रोग विशेषज्ञ को दिखाए बिना ही चौबीस घंटे में ही डिस्चार्ज कर दिया। अगले दिन नवजात को खून की उल्टी होने पर जयपुर जेके लॉन हॉस्पिटल ले कर पहुंचे, लेकिन उपचार से पूर्व ही नवजात ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने बताया कि जेके लॉन हॉस्पिटल में चिकित्सकों ने बताया कि नवजात व उसकी मां का ब्लड गु्रप भी अलग अलग है,
ऐसे में विशेष उपचार की जरुरत होती है, अगर यहां उपचार की सुविधा नहीं थी, उन्हें किसी अन्य हॉस्पिटल में जाने या शिशु रोग विशेषज्ञ को दिखाने के लिए कह देते, लेकिन इनकी लापरवाही के चलते नवजात की मौत हो गई। इस दौरान हॉस्पिटल के संचालक डॉ. सुनीत उपाध्याय ने भी नवजात के परिजनों से समझाइश की, लेकिन अपनी बात पर अड़े रहे।
उपाध्याय ने बताया कि डिस्चार्ज के वक्त नवजात पूरी तरह स्वस्थ्य था। मां व नवजात के ब्लड ग्रुप में भिन्नता होने पर जरूरी इंजेक्शन भी लगाया है, प्रसव के बाद नवजात फिडिंग भी कर रहा था। दूसरी ओर ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. धीरज शर्मा ने बताया कि प्रसव के 48 घंटे बाद प्रसूता व नवजात को डिस्चार्ज किया जाना चाहिए।

तीन छप्परपोश में आग, हजारों रुपए का नुकसान
लालसोट. डूंगरपुर ग्राम पंचायत के गांव दुर्जनवास में शॉर्ट सर्किट के चलते तीन छप्परपोश जलकर राख हो गए। आग में हजारों रुपए का सामान भी जलकर राख हो गया। आग लगने की यह घटना लल्लीदेवी, गोविंदा, छीतर,रामजी लाल, राजू व विनोद बैरवा के यहां हुई। इसके चलते आग में सभी घरेलू सामान, अनाज व चारा जल गया। मामले की जानकारी मिलने पर लालसोट से दमकल पहुंची और आग पर काबू पाया।

भैंस चोरी का मामला दर्ज :
लालसोट. झांपदा गांव निवासी सुरेश कुमार सैनी ने अज्ञात जनों केे खिलाफ भैंस चोरी का मामला दर्ज कराया है। प्राथमिकी में बताया है कि उसकी भैंस दौलतपुरा मोड़ पर जोरवार बाग के पास बाड़े में बंधी थी, जिसे अज्ञात जने चुरा ले गए।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned