शातिर बाइक चोर गिरफ्तार, दो पावर बाइक जब्त

dausa लालसोट थाना पुलिस की कार्रवाई

By: Rajendra Jain

Updated: 20 Jun 2021, 09:33 PM IST

दौसा. प्रदेश की राजधानी जयपुर के साथ दौसा व सवाई माधोपुर जिले में बाइक चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाला एक शातिर बाइक चोर लालसोट थाना पुलिस थाना पुलिस की स्पेशल टीम के हत्थे चढ़ गया है। पुलिस के अनुसार इस आरोपी के खिलाफ दोनों जिलों के कई थानों में बाइक चोरी के मामले दर्ज हैं और पुलिस ने आरोपी के पास से दो पावर बाइक भी जब्त की है।

लालसोट थाना प्रभारी राजवीर सिंह राठौड़ ने बताया कि स्पेशल टीम ने गत 10 जून को जगदंबा कॉलोनी से चोरी की गई बाइक को चुराने के मामले में दिलखुश मीना निवासी रामगढ़ मुराडा को मात्र आठ दिनों बाद गिरफ्तार कर लिया, जिसके बाद अनुसंधान व पूछताछ में आरोपी द्वारा सवाई माधोपुर शहर के मानटाउन क्षेत्र से चुराई गई एक और बाइक को बरामद कर लिया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि उक्त आरोपी का साथी रमेश गुर्जर निवासी बाढ बंदड़ा फरार है, जिसकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। उक्त शातिर बाइक चोर के खिलाफ जयपुर दौसा व सवाई माधोपुर जिले के कई थानों में अब तक दस प्रकरण दर्ज हैं।


एक हजार बोरी कोयले से भरा ट्रेलर पकड़ा

दौसा . ब्यावर से नेपाल के लिए एक हजार बोरी कोयला लेकर जा रहे एक ट्रेलर को वन विभाग ने टीपी (ट्रांसपोर्ट परमिशन) के अवधिपार होने की वजह से सीज कर दिया।
जिला उप वन संरक्षक (डीएफओ) वी. केतन कुमार ने बताया कि अजमेर के ब्यावर से नेपाल के लिए एक ट्रेलर में एक हजार बोरी कोयला भर कर लाने की सूचना पर दौसा फोरेस्टर रामजीलाल मीना को मय टीम कार्रवाई करने के निर्देश दिए। फोरेस्टर ने ट्रेलर को भाण्डारेज मोड़ के समीप रोक कर दस्तावेजों की जांच की तो इसकी टीपी की समयावधिक खत्म होना पाया गया। इस पर कोयले से भरे ट्रेलर को भांकरी रोड स्थित वन विभाग के कार्यालय में लाकर सीज कर दिया।
उन्होंने बताया कि गत दिनों सिकराय रेंज कार्यालय में भी कोयले के दो ट्रेलर पकड़े थे। कोयले से भरे इन ट्रेलरों में टीपी के अलावा भी कई कमियां थी, जिसके कारण इनको सीज किया गया है। डीएफओ ने बताया कि अभी फाइल उनके पास नहीं पहुंची है। वैसे सिकराय रेंज में कोयले से भरे ट्रेलरों पर जुर्माना किया गया है।
वहीं दौसा रेंजर बबलू राम मीना ने बताया कि कोयले के जिस ट्रेलर को जिस वक्त पकड़ा था, उसको भरतपुर से आगे पहुंच जाना चाहिए थे, लेकिन यह दौसा ही पहुंचा। टीपी में देरी के अलावा भी कई कमियां हैं।

कीकर-बबूल की लकडिय़ों का है कोयला
डीएफओ ने बताया कि यह कोयला ब्यावर, भीलवाड़ा आदि स्थानों पर कीकर-बबूल की लकडिय़ों का बनाया हुआ है। यहां से नेपाल, भूटान सहित कई देशों में जाता है। अवैध तरीके से जाने वाले कोयले के खिलाफ वन विभाग को कार्रवाई करने का अधिकार है। वन विभाग ने अपने अधिकार क्षेत्र में यह कार्रवाई की है। उन्होंने बताया कि इस सम्बन्ध में ब्यावर तहसीलदार से भी बात की है। इसके अलावा भी कई कमियां है, जिनको लेकर कार्रवाई की जाएगी।

Rajendra Jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned