पाक महीने में रोजेदारों के लिए नियम है एक, पर इनको मिली है रियायत

पाक महीने में रोजेदारों के लिए नियम है एक, पर इनको मिली है रियायत

By: Pawan Tiwari

Updated: 05 May 2019, 04:51 PM IST

रहमतों और बरकतों का पाक महीना रमजान इस्लाम धर्म में काफी पवित्र माना जाता है। इस दौरान पूरे एक महीने तक मुस्लिम समुदाय को लोग रोजे रखते हैं। इस दौरान रोजेदार लोग अपनी जीवनशैली में विशेष एहतियात रखते हैं। खासकर प्रेग्नेंट महिलाओं को खुद पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

वैसे तो पाक महीने में सभी रोजेदारों के लिए एक जैसे ही नियम होते हैं लेकिन प्रेग्नेंट महिला, बुजुर्ग और बच्चों के लिए इन नियमों में कुछ रियायत दी गई है। आइये जानते हैं कि रोजे के दौरान प्रेग्नेंट महिलाओं को क्या करना चाहिए और किन बातों पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

प्रेग्नेंट महिलाएं रोजे के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

  • अगर रोजे के दौरान कमजोरी महसूस हो तो रोजे को तोड़ सकतीं हैं
  • जिनका ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा रहता हो, उसे रोजे नहीं रखना चाहिए
  • अगर बच्चा पेट में गतिविधि नहीं कर रहा हो या कम कर रहा हो तो रोजा तोड़ देना चाहिए
  • अगर डॉक्टर रोजा रखने से मना कर रहा हो तो रोजा नहीं रखना चाहिए

रोजे के दौरान बरतें सावधानियां

  • सुबह में खाई जानेवाली सहरी को कभी नहीं छोड़े। सहरी खाने से आप पूरे दिन ऊर्जावान महसूस करेंगी।
  • हो सके तो सहरी भीगे बदाम का सेवन करें। साथ ही फल, दूध और जूस भी लें।
  • पूरे दिन खुद को एनर्जी से भरपूर रखने के लिए उच्च फाइबर वाला आहार का सेवन करें, जैसे पनीर, चिकन, अंड़ा के साथ मल्टीग्रेन रोटी अवश्य लें।

 

Show More
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned