जानिए सौंफ की चाय और एलोवेरा के फायदे

सौंफ का प्रयोग खाने का स्वाद और माउथफ्रेशनर के तौर पर किया जाता है। महिलाएं जिन्हें पीरियड के दौरान दर्द की शिकायत रहती है वे भी इसे पी सकती हैं। यह शरीर की सफाई भी करती है। इसे पीने से शरीर से विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और आप रिफ्रैश महसूस करते हैं।

सौंफ की चाय से पेट की जलन दूर -

सौंफ का प्रयोग खाने का स्वाद और माउथफ्रेशनर के तौर पर किया जाता है। लेकिन इसके कई औषधीय गुण भी हैं जो बहुत कम लोग जानते हैं। बारिश के मौसम में अक्सर एसिडिटी के कारण पेट में जलन हो जाती है। ऐसे में एक कप सौंफ की चाय पी सकते हैं। इससे जलन के साथ, गैस और डायरिया में भी फायदा होता है। महिलाएं जिन्हें पीरियड के दौरान दर्द की शिकायत रहती है वे भी इसे पी सकती हैं। यह शरीर की सफाई भी करती है। इसे पीने से शरीर से विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और आप रिफ्रैश महसूस करते हैं।

एलोवेरा ऑयली त्वचा के लिए लाभदायक -
मानसून में नमी के कारण दाद, खुजली और तैलीय त्वचा की समस्या बढऩे लगती है। ऐसे में एंटी-एजिंग, एंटी-टैनिंग युक्त एलोवेरा त्वचा पर इस्तेमाल करने से दाद, खुजली, पिम्पल्स में राहत देता है। ये तैलीय त्वचा के लिए उपयोगी है। पानी भरपूर पीएं। इस मौसम में मसालेदार, तला-भुना और खट्टे पदार्थ खाने से बचें। ऐसे आहार से पित्त बढ़ता है। पिम्पल्स व पाचन संबंधी समस्या हो सकती है। आहार में मौसमी सब्जियां जैसे तोरई, कद्दू, सलाद, फल, मूंग की दाल, खिचड़ी, मक्का और दलिया को शामिल करें। पाचन तंत्र सही रखने के लिए एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल गर्म पानी या दूध के साथ रोजाना रात को सोने से पहले लेने से फायदा हो सकता है।

Show More
विकास गुप्ता
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned