scriptwaist-hip pain is sign of serious Bone disease after corona | कमर और कूल्हे के दर्द को हल्के में न लें, कोरोना के बाद हड्डियों में हो रही ये गंभीर बीमारी | Patrika News

कमर और कूल्हे के दर्द को हल्के में न लें, कोरोना के बाद हड्डियों में हो रही ये गंभीर बीमारी

Bone disease: क्या आपके कमर का दर्द कूल्हे तक या कूल्हे से कमर तक पहुंच रहा। तो सवधान हो जाइए,क्योंकि ये एक गंभीर बीमारी का संकेत है। खासकर तब जब आप कोरोना संक्रमित रहे हों।

Published: May 17, 2022 11:40:38 am

कोरोना से उबर चुके लोगों की दिक्कते कम नहीं हो पा रहीं। कमर कूल्हे व घुटनों में दर्द की शिकायत अमूमन अब लोगों को ज्यादा हो रही है। अगर आप कोरोना संक्रमित न भी हों तो भी कमर और कूल्हें में दर्द बढ़ रहा तो आपको इसकी जांच करानी चाहिए।
bone_disease_after_corona.jpg
Bone disease after corona
22 से 35 साल के लोगों में कूल्हे और कमर के साथ घुटने का दर्द 'एवैस्कुलर नेक्रोसिस' के कारण होता है। ये समस्या कोविड संक्रमण के बाद तेजी से बढ़ने लगी है। इसे पोस्ट कोविड एवीएन का नाम दिया गया है।
क्या है एवैस्कुलर नेक्रोसिस-what is avascular necrosis
एवैस्कुलर नेक्रोसिस को डेथ आफ बोन नाम से भी जाना जाता है। शरीर के अंगों में ब्लड सर्कुलेशन जब प्रभावित होने लगता है और सही तरीके से सर्कुलेशन नहीं होता तो हड्डियों के ऊतक मरने लगते हैं। कुछ समय बाद शरीर की गड्डियां गलने लग जाती हैं। कोरोना होने के दौरान स्टेरायड लेने वालों में यह समस्या अधिक देखी जा रही है।
समस्या शुरू होते ही कराएं इलाज
कमर-कूल्हे और घुटने में दर्द बना रहे तो इसकी जांच तुरंत कराएं। एवैस्कुलर नेक्रोसिस का पता एक्सरे व एमआरआई से चलता है। आमतौर पर कोरोना होने के आठ माह से दो साल बाद तक पोस्ट कोविड एवीएन के लक्षण उभरते हैं। एवीएन का सही व पूर्ण इलाज रोबोटिक लेजर तकनीक से संभव है। बिना सर्जरी की यह तकनीक हड्डी का रक्त संचार बढ़ाती है। हड्डी की कोशिकाएं ठीक होने लगती हैं।
छह से आठ माह चलता है उपचार
पोस्ट कोविड एवीएन के उपचार में छह से आठ माह का वक्त लगता है। इस दौरान 25 से 30 बार रोबोटिक लेजर तकनीक से उपचार कराना होता है।
दर्द से राहत के घरेलू उपाय-home remedies for pain relief
हड्डी का दर्द कम करने को बर्फ से सेकाई करें।
हल्के हाथों से मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा।
खानपान संतुलित रखें और रोजाना 45 मिनट की वॉक करें।
डिस्क्लेमर- आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल सामान्य जानकारी प्रदान करते हैं। इन्हें आजमाने से पहले किसी विशेषज्ञ अथवा चिकित्सक से सलाह जरूर लें। 'पत्रिका' इसके लिए उत्तरदायी नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाबMaharashtra Political Crisis: क्या महाराष्ट्र में दो-तीन दिनों में सरकार बना लेगी बीजेपी? यहां पढ़ें पूरा समीकरणPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget 2022: 1 जुलाई से फ्री बिजली; यहां पढ़ें पंजाब सरकार के पहले बजट में क्या-क्या है खासपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- ये राजनीति नहीं है, ये अब सर्कस बन गया हैMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.