आपका एटिट्यूड भी तय करता है आपकी सेहत कैसी है

नीचे दिए सवालों का जवाब दीजिए, अ और ब का स्कोर जोडि़ए और परखिए कि कहीं हैल्थ के प्रति आपका एटिट्यूड नेगेटिव तो नहीं!

'एटिट्यूड' को नजरिया भी कह सकते हैं और रवैया भी। यह अच्छा हो तो आप भी अच्छे और दुनिया भी, लेकिन खराब तो सबकुछ गड़बड़। नीचे दिए सवालों का जवाब दीजिए, अ और ब का स्कोर जोडि़ए और परखिए कि कहीं हैल्थ के प्रति आपका एटिट्यूड नेगेटिव तो नहीं!

1. सेहत से जुड़ी किसी समस्या को लेकर आप उपाय से ज्यादा टेंशन करते हैं ?
(अ) नहीं, बिल्कुल नहीं
(ब) हां, टेंशन हो जाता है

2. आप सोचते हैं, अच्छी आदतें सिर्फ बचपन में सीखी जा सकती है, पकी उम्र में नहीं ?
(अ) नहीं, अच्छी आदतें सीखना पसंद।
(ब) हां, देखने में तो यही आता है

3. सेहत के नाम पर पैसा और समय में से आप पैसे को ज्यादा महत्व देते हैं?
(अ) नहीं, मेरे लिए सेहत सर्वोपरि है
(ब) मानता हूं कि पैसा होगा तो सेहत होगी

4. दोस्तों में दिलदार के नाम से मशहूर, पर सेहत के लिए वक्त निकालना मुश्किल?
(अ) हां, लाइफस्टाइल मैंटेन करता हूं
(ब) नहीं, वीकएंड में शेड्यूल गड़बड़ जाता है

5. बीमारियों के लक्षणों को टालना आपकी आदत है और उसे बदलना नहीं चाहते?
(अ) सुधार के लिए कोशिश करता हूं
(ब) हां, कुछ चीजें स्वत: ठीक होती हैं

6. सेहत से जुड़ी मसलों पर बात करना या किसी से सलाह लेना आपको पसंद है?
(अ) हां, ऐसा करके मेरी कई शंकाएं भी दूर हुई हैं
(ब) नहीं, इन सबके लिए टाइम नहीं

7. 'नेगेटिव एटिट्यूड' में सुधार के लिए आप कोई अतिरिक्त प्रयास करते हैं?
(अ) हां, यह करने के लिए मैं पॉजिटिव अप्रोच रखता हूं
(ब) नहीं, 'एटिट्यूड' कभी नहीं बदलता

स्कोर और एनालिसिस -
यदि आपने 4 या उससे ज्यादा (अ) अर्जित किए हैं तो आपका 'एटिट्यूड' बढ़ियां है और आपको उस पर नाज है। आप बीमार कम पड़ते हैं और इसी वजह से आपकी फैमिली और प्रोफेशनल लाइफ में भी बैलेंस है। आप अच्छे और हैल्दी लोगों से जुड़ना पसंद करते हैं और उनकी आदतें भी अपनाते हैं। आपको इसी भावना के साथ अपना 'एटिट्यूड' पॉजिटिव बनाए रखने की कोशिश करते रहनी चाहिए।

यदि आपने 5 (ब) अर्जित किए हैं तो वाकई 'एटिट्यूड' को लेकर चिंताजनक स्थिति है। समस्या आपके अंदर है और आप दुनियाभर में समाधान ढूंढ़ने में दुबले हुए जा रहे हैं। खुद को संभालिए जनबा, इससे पहले कि देर हो जाए अपना 'एटिट्यूड' बदलने की कोशिश आज से ही शुरू कर दें तो बेहतर होगा। अनजान या लापरवाह बनने की बजाय इमानदारी से कोशिश करेंगे तो कुछ भी नामुमकिन नहीं।

Show More
विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned