15 जून तक बढ़ाया ग्रीष्मावकाश, अब परीक्षाएं जुलाई में संभव

इस दौरान विश्वविद्यालय के सभी शैक्षणिक विभागों एवं संघटक महाविद्यालयों में शैक्षणिक कार्य नहीं होंगे।

By: सुनील शर्मा

Published: 31 May 2020, 07:40 AM IST

राजस्थान विश्वविद्यालय ने शनिवार को ग्रीष्मावकाश की अवधि एक जून से 15 जून तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस दौरान विश्वविद्यालय के सभी शैक्षणिक विभागों एवं संघटक महाविद्यालयों में शैक्षणिक कार्य नहीं होंगे। कुलपति प्रो. आर. के. कोठारी ने बताया कि ग्रीष्मावकाश 31 मई तक के लिए निर्धारित किया गया था लेकिन वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए इसे 15 जून तक बढ़ाने के निर्णय लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि हाल ही राज्यपाल और कुलाधिपति कलराज मिश्र को ग्रीष्मावकाश बढ़ाने का सुझाव दिया था। साथ ही 15 जून से 10 जुलाई तक सेमेस्टर के बचे कोर्स की पढ़ाई कराने के लिए भी कहा गया था। ऐसे में अब परीक्षाएं जुलाई में ही संभव है।

कंटेनमेंट जोन से बाहर होंगे परीक्षा केन्द्र
राजस्थान बोर्ड की 10वीं-12वीं की परीक्षाएं जून में कराने को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस संबंध में 2-3 जून को जिला शिक्षा अधिकारियों की अजमेर स्थित बोर्ड कार्यालय में बैठक है। जानकारी के अनुसार रामगंज में ऐसे 19 परीक्षा केन्द्र हैं जिन्हें बाहर निकाला जाएगा। इसी तरह अन्य कंटेनमेंट जोन से भी परीक्षा केन्द्रों को बाहर निकाला जाएगा।

जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मुख्यालय रामचंद्र पिलानिया ने बताया कि कोशिश रहेगी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन के क्रम में यदि किसी विद्यालय में कक्षा कक्ष की परेशानी आ रही हैं तो लाइब्रेरी, बरामदे या अन्य अनुपयोगी भवनों को इस्तेमाल किया जाए। ऐसे परीक्षा केन्द्रों की जानकारी मांगी गई है, जहां सोशल डिस्टेंसिंग के हिसाब से बैठक व्यवस्था में परेशानी आ सकती है।

Show More
सुनील शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned