समाजवादी पार्टी के पूर्व सभासद के भाई की गोली मारकर हत्या, पत्नी ने चुनावी रंजिश को बताया वजह

मृतक सभासद भाई होने के साथ ही स्वमं ट्रांसपोर्टर था। हत्या के पीछे असली क्या वजह है इसकी जांच में जुटे पुलिस अधिकारियों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

By: Karishma Lalwani

Published: 26 Feb 2021, 09:49 AM IST

इटावा. यूपी विधानसभा चुनाव से पहले इटावा जिले में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के पूर्व सभासद के भाई जितेंद्र उर्फ मोनू (34) की गुरुवार देर शाम गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई है। वारदात के बाद इलाके में दहशत का माहौल है। आरोप है कि कुछ लोगों ने चुनावी रंजिश को लेकर जितेंद्र की हत्या की है। मृतक सभासद भाई होने के साथ ही स्वमं ट्रांसपोर्टर था। हत्या के पीछे असली क्या वजह है इसकी जांच में जुटे पुलिस अधिकारियों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बता दें कि जिस स्थान पर गोली मार कर हत्या की गई थी, वहां से भारतीय जनता पार्टी की एमएलए सरिता भदौरिया के आवास की दूरी मात्र 100 मीटर है।

मामला कोतवाली इलाके के कबीरगंज का है। समाजवादी पार्टी के पूर्व सभासद के भाई जितेंद्र उर्फ मोनू मोटरसाइकिल से अपने घर आ रहे थे कि बीच रास्ते में सुनियोजित ढंग से करीब सात की तादाद में हत्यारों ने उन पर हमला किया व गोली मार कर हत्या कर दी। कई राउंड की गई फायरिंग में मोनू के तीन गोलियां लगने से वह मौके पर ही गिर पड़ा। इधर गोलियां की आवाज सुनकर घर में मौजूद मृतक की पत्नी प्राची मौके पर पहुंची तो हमलावर कुछ और राउंड फायरिंग करते हुए भाग गये। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर एसपी सिटी प्रशांत कुमार, सीओ सिटी राजीव प्रताप सिंह, कोतवाल बीएस सिरोही पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। जहां युवक गली में मृत हालत में पड़ा हुआ था। घटना की जानकारी होने पर पूर्व सभासद भाई विमल वर्मा समेत रिश्तेदार व अन्य परिजन एकत्रित हो गये।

चुनावी रंजिश में हत्या

मृतक की पत्नी का आरोप है कि उसके पति की हत्या के पीछे चुनावी रंजिश है। उन्होंने मोहल्ले के ही एक परिवार पर पति को मारने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पालिका चुनाव को लेकर रंजिश पहले से चल रही थी। इससे पहले भी यही हमलावर उसके पति पर जान लेने की कोशिश कर चुके है। उधर, मृतक मोनू वर्मा के भाई पूर्व सभासद अनिल वर्मा ने कहा कि उनका भाई सभासद के आगामी चुनाव के लिए तैयारी कर रहा था जिसको लेकर कुछ राजनीतिक लोग रंजिशमान रहे थे। इसलिए चुनावी रंजिश को मानते हुए उनके भाई को घर आते समय आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने गोलियों से भूनते हुए मौत के घाट उतार दिया है।

खाली खोखे बरामद

घटनास्थल से पुलिस ने कई खाली खोखे बरामद किये हैं। सूचना पर मौके पर फोरेंसिक टीम ने घटना स्थल पर पहुंचकर ब्लड के सैम्पल लेने के साथ ही अन्य साक्ष्य भी जुटाए। एसपी सिटी प्रंशात कुमार ने कहा कि शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कबीरगंज में देर रात पूर्व सभासद भाई की गोली मारकर हत्या हुई है। हत्या के पीछे चुनावी रंजिश के बात सामने आयी है, जिसमें पत्नी ने मोहल्ले के ही कुछ लोगों का घटना को कारित करना बताया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: घर में अकेला पाकर बच्ची से 'चाचा' ने किया दुष्कर्म, संदिग्ध अवस्था में घरवालों को मिली लड़की

ये भी पढ़ें: अभ्युदय कोचिंग: 5 और 6 मार्च को होगी प्रवेश परीक्षा, छात्रों को मुफ्त टैबलेट देगी योगी सरकार

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned