NEET 2019: तीन साल में सबसे आसान रहा नीट एग्जाम, ऐसे आए प्रश्न

NEET 2019: तीन साल में सबसे आसान रहा नीट एग्जाम, ऐसे आए प्रश्न

Sunil Sharma | Updated: 06 May 2019, 01:50:53 PM (IST) परीक्षा

NEET Exam 2019

नेशनल टैस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से पहली बार आयोजित किया गया नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टैस्ट (नीट) तीन साल में सबसे आसान रहा। पेपर में 96 प्रतिशत सवाल एनसीईआरटी से पूछे गए। ऐसे में जिन स्टूडेंट्स ने एनसीईआरटी से तैयारी की, उन्हें फायदा मिलेगा। हालांकि बायोलॉजी में छह सवाल एनसीईआरटी से बाहर पूछे गए, लेकिन यह पिछले साल से काफी आसान रहा। फिजिक्स भी पिछले साल से आसान और कैमिस्ट्री बेहद ईजी रही। बायोलॉजी और फिजिक्स इस बार डिसाइडिंग रहेगी।

पेपर पैटर्न की बात करें, तो ग्यारहवीं और बारहवीं के टॉपिक्स को ईक्वल वेटेज दिया गया। एक्सपर्ट आशीष अरोड़ा के अनुसार, बायोलॉजी मॉडरेट रही। कैमिस्ट्री में तीन साल से पूछे जा रहे कीटोंस और एल्डीहाइड्स से कोई भी सवाल नहीं पूछा गया। कैमिस्ट्री में पिछले छह सालों में सबसे ईजी रहा। एक्सपर्ट अरुण गौड़ के अनुसार तीनों की विषय आसान रहे। 11वीं और 12वीं के समान संख्या में प्रश्न पूछे गए। कैलकुलेशन कम रही। कटऑफ पिछले सालों की तुलना में बढ़ सकती है।

स्टूडेंट्स के अनुसार, पेपर काफी आसान रहा। अलवर से आई स्टूडेंट भावना का कहना था कि पेपर ईजी था। बायो और कैमिस्ट्री आसान रही। 74 सवाल एनसीईआरटी से रहे। कैमिस्ट्री में ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक दोनों आसान थे, फिजिकल में न्यूमैरिकल से संबंधित सवाल कम रहे, इसलिए कैल्कुलेशन में परेशानी नहीं आई और पेपर भी लैंदी नहीं लगा। महाराष्ट्र से आए बालाजी ने बताया कि बायो, कैमिस्ट्री और फिजिक्स तीनों ही मॉडरेट लेवल के थे। पिछले सालों के पेपर्स की तुलना में इस बार काफी आसान था। पेपर को स्टूडेंट फ्रैंडली बनाया गया है। परिणाम 5 जून को आएगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned