RRB JE recruitment 2019 : जानिए परीक्षा की भाषा कैसे बदलें

RRB JE recruitment 2019 : जानिए परीक्षा की भाषा कैसे बदलें

Jamil Ahmed Khan | Publish: Apr, 24 2019 03:22:18 PM (IST) | Updated: Apr, 24 2019 03:22:19 PM (IST) परीक्षा

RRB JE recruitment 2019 : जिन उम्मीदवारों ने भारतीय रेलवे की जूनियर इंजीनियर पदों (junior engineer posts) के लिए आवेदन किया था और अपनी चुनी हुई परीक्षा की भाषा में बदलाव करना चाहते हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं।

rrb JE recruitment 2019 : जिन उम्मीदवारों ने भारतीय रेलवे की जूनियर इंजीनियर पदों (junior engineer posts) के लिए आवेदन किया था और अपनी चुनी हुई परीक्षा की भाषा में बदलाव करना चाहते हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं। रेलवे भर्ती बोर्ड (Railway Recruitment Board) ने परीक्षा की भाषा को बदलने के लिए बुधवार को लिंक एक्टिवेट कर दिया है। आवेदन छ्वश्व JE post (CEN No.03/2018) के लिए ही वैध हैं। RRBs की आधिकारिक वेबसाइटों में लॉग इन कर परीक्षा की भाषा में बदलाव किया जा सकता है। लिंक 24 अप्रेल से 1 मई, 2019 (रात 11.59 बजे) तक एक्टिव रहेगा। उम्मीदवार rrbonlinereg.in पर लॉग इन कर अपनी भाषा बदल सकते हैं।

जो उम्मीदवार अपनी भाषा में कोई बदलाव नहीं करना चाहते हैं, तो आवेदन करते वक्त उन्होंने जो भाषा भरी थी, आरआरबी उसे अंतिम चयन मान लेगा। 1 मई के बाद रेलवे भाषा बदलने की आवेदन प्रक्रिया को खारिज कर देगा। आरआरबी की आधिकारिक वेबसाइटों पर जारी नोटिफिकेशन के अनुसार, उम्मीदवार अंग्रेजी भाषा के अलावा आवेदन करते वक्त भरी गई परीक्षा की भाषा में प्रश्न देख सकेंगे। अगर अंग्रेजी और चुनी गई भाषा में दिए गए प्रश्नों में कोई विवाद होता है तो अंग्रेजी भाषा में दिए गए प्रश्न को तरजीह दी जाएगी।

आरआरबी जेई कंप्यूटर आधारित परीक्षा (RRB JE computer-based test) हिंदी, असमिया, उर्दू, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, कोकंणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, ओडिया, पंजाबी, तमिल और तेलुगू भाषाओं में आयोजित की जाएगी। अंग्रेजी डिफाल्ट भाषा होगी। 13 हजार 487 जूनियर इंजीनियर पदों के लिए आवेदन प्रक्रिया बंद हो गई है।

उम्मीदवार परीक्षा की तारीख का इंतजार कर रहे हैं। रेलवे भर्ती बोर्ड जूनियर इंजीनियर पदों के लिए दो स्तरीय कंप्यूटर आधारित परीक्षा का आयोजन करेगा। जिन उम्मीदवारों को CBT 1 में शॉर्टलिस्ट किया जाएगा, उन्हें ही CBT 2 के लिए बुलाया जाएगा। CBT के पहले चरण में उम्मीदवारों को 100 प्रश्न पूरे करने के लिए 90 मिनट दिए जाएंगे, जबकि दिव्यांग श्रेणी के उम्मीदवारों को मददगार के साथ इतने ही प्रश्नों को पूरा करने के लिए 120 मिनट का समय दिया जाएगा। प्रश्न वस्तुनिष्ठ और बहुविकल्पीय आधारित होंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned