सरकार की 656 करोड़ रुपए की पूंजी के बदले शेयर जारी करेगा एएआई, वित्त मंत्रालय ने दिया आदेश

सरकार की 656 करोड़ रुपए की पूंजी के बदले शेयर जारी करेगा एएआई, वित्त मंत्रालय ने दिया आदेश

Ashutosh Kumar Verma | Publish: May, 21 2019 06:29:48 PM (IST) फाइनेंस

  • वित्त मंत्रालय ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया से सरकार से ली गयी 656 करोड़ रुपये की पूंजी के एवज में शेयर जारी करने को कहा है।
  • पिछले साल वित्त मंत्रालय में लाभ कमाने वाले सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा शेयर पुनर्खरीद पर चर्चा हुई थी।
  • पिछले वित्त वर्ष में एएआई ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिये पूरा कर बाद लाभ (पीएटी) 2,800 करोड़ रुपये सरकार को लाभांश के रूप में दिया।

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ( AAI ) से सरकार से ली गयी 656 करोड़ रुपये की पूंजी के एवज में शेयर जारी करने को कहा है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। सरकार के 100 फीसदी स्वामित्व वाले स्टेच्युटरी बॉडी का गठन संसद के कानून के तहत एक अप्रैल, 1995 को पूर्ववर्ती एयरपोर्ट अथॉरिटी तथा भारतीय अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट अथॉरिटी का विलय कर किया गया था। तथ्य यह है कि Airport Authority of India ने सरकार की तरफ से डाली गयी पूंजी के एवज में कोई इक्विटी शेयर जारी नहीं किया। पिछले साल वित्त मंत्रालय में लाभ कमाने वाले सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा शेयर पुनर्खरीद पर चर्चा हुई थी।

यह भी पढ़ें - TRAI जारी करने जा रही नया नियम, जल्द ही सस्ता होगा टीवी देखना

लिस्टिंग का खुलेगा रास्ता

उसके बाद एएआई के निगमीकरण के लिये वित्त मंत्रालय, कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय तथा नागर विमानन मंत्रालय के अधिकारियों के बीच बैठक हुई और पूंजी दिये जाने को लेकर शेयर जारी करने के बारे में कानूनी राय ली गयी। सूत्रों ने पीटीआई भाषा से कहा, "वित्त मंत्रालय ने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को पत्र लिखकर 656.56 करोड़ रुपये की चुकता पूंजी के एवज में शेयर जारी करने को कहा है।" शेयर पूंजी जारी करने के साथ एएआई कंपनी कानून के तहत कंपनी बन जाएगी और शेयर के निवेश, शेयर पुनर्खरीद या शेयर बाजारों में सूचीबद्धता के लिये जा सकती है।

यह भी पढ़ें - HDFC बना देश का सबसे बड़ा समूह, Reliance Industries और Tata समूह को छोड़ा पीछे

एएआई ने लाभांश के तौर पर वित्त वर्ष 18 में सरकार को 2800 करोड़ रुपये दिए

सूत्रों के अनुसार एएआई का निगमीकरण का काम अब नई सरकार करेगी। नई सरकार इस माह के अंत में सत्ता संभाल लेगी। पिछले वित्त वर्ष में एएआई ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिये पूरा कर बाद लाभ (पीएटी) 2,800 करोड़ रुपये सरकार को लाभांश के रूप में दिया। इससे पहले, वह सरकार को लाभांश के रूप में केवल 30 प्रतिशत ही हस्तांतरित करता था। वित्त मंत्रालय की पूंजी पुनर्गठन नीति के तहत सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को सरकार को अधिकतम लाभांश देना है। इसीलिए पिछले वित्त वर्ष में एएआई को 2017-18 का अपना पूरा लाभ बतौर लाभांश देने को कहा था।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned