PPF से कम टाइम में डबल हो जाएगा पैसा, जानें इस इंवेस्टमेंट स्कीम के बारे में सबकुछ

कम वक्त में ज्यादा प्रॉफिट चाहने वालों के लिए वॉलेंटरी प्रोविडेंट फंड (VPF) बेहतर विकल्प हो सकता है

By: Pragati Bajpai

Updated: 30 Apr 2020, 11:45 AM IST

नई दिल्ली: हर इंसान चाहता है कि उसका पैसा सुरक्षित और प्रॉफिट कमाए। खासतौर पर नौकरी पेशा इंसान हेशा चाहता है कि उसका पैसा सुरक्षित रहे और जल्द से जल्द उसका पैसा दोगुना हो जाए। अगर आप भी एसे ही लोगों में आ हैं तो हमारे पास आपके लिए एक बढ़िया निवेश स्कीम है जहां कम वक्त में पैसा दोगुना हो जाएगा। कम वक्त में ज्यादा प्रॉफिट चाहने वालों के लिए वॉलेंटरी प्रोविडेंट फंड (VPF) बेहतर विकल्प हो सकता है। VPF में निवेश करने के लिए आपको अलग से कोई खाता खोलने की जरूरत नहीं है। यहां एक और बात ध्यान रखने लायक है कि इस स्कीम में PPF से ज्यादा ब्याज तो मिलता ही है साथ ही आपका पैसा भी डेढ़ साल यानि 18 महीने पहले ही डबल हो जाता है। अगर आप सोच रहे हैं कि ये VPF है क्या तो चलिए आपको आज हम इस स्कीम के बारे में सब कुछ बताते हैं।

पॉवर कंपनियों को मिल सकती है लोन की राहत, PFC और REC ने कही लोन देने की बात

VPF- वॉलंटरी प्रोविडेंट फंड (VPF) कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) की ही एक योजना है। इस योजना के तहत कर्मचारी अपनी इच्‍छा से अपने वेतन का कोई भी हिस्सा वॉलंटरी प्रोविडेंट फंड खाते में योगदान कर सकता है।शर्त बस इतनी है कि ये राशि सरकार द्वारा मान्य 12 फीसदी पीएफ की अधिकतम सीमा से ज्यादा होनी चाहिए। यहां आपको ये भी ध्यान में रखना होगा कि वीपीएफ में कंपनी द्वारा किसी भी प्रकार का योगदान नहीं किया जाएगा।

अलग से खाता खोलने की जरूरत नहीं- इस स्कीम में निवेश करने के लिए आपको अलग से खाता खोलने की जरूरत नहीं होती है। आप अपनी सैलेरी और डीए का 100 फीसदी हिस्सा इस स्कीम में लगा सकते हैं । यह राशि ईपीएफ योजना के खाते में जमा की जाएगी, क्‍योंकि VPF के लिए कोई अलग खाता नहीं है।

सैलेरी अकाउंट से जुड़ी बातें छिपाते हैं बैंक, जानें इस अकाउंट के फायदे

इंटरेस्ट- इस स्कीम में ब्याज पीपीएफ से ज्यादा मिलता है। PPF पर इस समय 8% तो VPF पर 8.65% ब्याज मिल रहा है। प्राइवेट कंपनियों ने भी VPF को ऑनलाइन कर दिया है तो आपके लिए निवेश आसान है।

निवेश समय और सीमा- इस स्कीम के तहत आप कितना भी अमाउंट निवेश कर सकते हैं। लेकिन इसमें से पैसा आप रिटायर होने या नौकरी छोड़ने की सूरत में ही निकाल सकते हैं।

Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned