Post Office Scheme: सिर्फ 70 रुपए के निवेश से 15 साल में बन जाएंगे लाखों के मालिक

 

अगर आप अपने भविष्य को सुरक्षित करने के लिए निवेश करना चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस की पीपीएएफ स्कीम बेहतर विकल्पों में से एक है। इसमें निवेश की राशि भी बहुत कम है।

By: Dhirendra

Updated: 08 Aug 2021, 08:56 PM IST

नई दिल्ली। अगर पोस्ट ऑफिस की किसी पॉलिसी में निवेश करने का मन बना रहे हैं तो हम आपको बता रहे हैं कि आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( Public Provident Fund ) में पैसा लगाएं। ऐसा इसलिए कि इसमें न्यूनतम राशि के निवेश के मोटा मुनाफा हो सकता है। फिर पैसा न डूबने की गारंटी भी मिले। यह पोस्ट ऑफिस की एक गारंटीड स्कीम है। इस स्कीम के तहत आपको मैच्योरिटी अवधि ( maturity period ) यानि 15 साल पूरा होने पर लाखों रुपए का फंड एक साथ मिलेगा।

Read More: EMI Free Loan: ईएमआई की टेंशन से मुक्ति, सुविधा से हिसाब करें लोन रिपेमेंट

7.1% के हिसाब से मिलेगा ब्याज

पोस्ट ऑफिस पीपीएफ स्कीम ( Post Office Scheme ) लेने पर आपको हर रोज 70 रुपए जमा करने होंगे। यानि हर महीने सिर्फ 2000 रुपए। इस तरीके से आप साल 24 हजार रुपए डाकघर में जमा करेंगे। 15 साल में आपकी कुल निवेश राशि होगी 3.60 लाख रुपए। इस पर आपको 7.1 प्रतिशत के हिसाब से सालाना ब्याज मिलेगा 2,90,913 रुपए। इस हिसाब से आपको 15 साल बाद मैच्योरिटी पर कुल राशि 6 लाख 50 हजार रुपए मिलेगी।

Read More: SEBI: 94 नए मामलों की जांच की शुरू, 2020-21 में 43.6% मामले कीमतों से छेड़छाड़ के

जरूरत पड़ने पर पैसा निकालने की भी सुविधा

किसी कारण से मैच्योरिटी डेट से पहले या बीच में पैसे की सख्त जरूरत होने पर आप इसमें से पैसा निकाल भी सकते हैं। मेडिकल ग्राउंड पर आप पीपीएफ खाते ( PPF Account ) से पूरी राशि निकाल सकते हैं। ऐसा इसलिए कि खाताधारक, जीवन साथी या कोई भी आश्रित गंभीर बीमारी की चपेट में आ जाएं तो नियमानुसार पूरी राशि निकालने की इजाजत होती है। बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए पैसों की आवश्यकता होने पर आप समय से पहले पीपीएफ खाता बंद भी कर सकते हैं। खाताधारक की मृत्यु होने पर नॉमिनी भी पैसे निकाल सकता है।

Read More: Sovereign Gold Bond: सोने में निवेश करना चाहते हैं तो कल से 13 अगस्त तक है सुनहरा मौका

ऐसा होने पर मैच्योरिटी राशि में हो सकता है इजाफा

पोस्ट ऑफिस की स्कीम ( Post Office Scheme ) की खास बात यह है कि ब्याज दरों की समीक्षा हर तिमाही में होती है। अगर कोई पीपीएफ में हर महीने 2000 रुपए का निवेश करे और ब्याज दरों में इजाफा हो तो उसकी मैच्योरिटी राशि बढ़ जाएगी। ऐसा होने पर आपको बढ़ी हुई राशि जोड़कर मिलेगा।

Read More: Vodafone-Idea: कुमार मंगलम बिड़ला के इस्तीफे के 2 दिन बाद वीआई के शेयरों में जबरदस्त उछाल, ये है बड़ी वजह

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned