RBI ने CKP Co-operative Bank को दिया झटका, मुसीबत में सवा लाख अकाउंट होल्डर्स

  • RBI की कार्रवाई से 485 करोड़ रुपए की एफडी भी अधर में लटकी
  • साल 2014 में भी RBI ने लगाया था बैंक ट्रांजेक्शंस पर प्रतिबंध

By: Saurabh Sharma

Updated: 02 May 2020, 12:10 PM IST

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के एक और सहकारी बैंक के खाताधारकों पर संकट आ गया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ( rbi ) ने पीएमसी बैंक के बाद अब सीकेपी सहकारी बैंक ( CKP Cooperative Bank ) पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिसकी वजह से सवा लाख अकाउंट होल्डर्स का रुपया फंस गया है। खास बात ये है कि देश में लॉकडाउन है और लोगों का रुपयों की काफी सख्त जरुरत है। ऐसे में बैंक पर कार्रवाई होना खाताधारकों के लिए एक बड़ी मुसीबत है।

यह भी पढ़ेंः- 17 राज्यों में लागू हुआ One Nation One Ration Card, 60 करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा लाभ

बैंक का लाइसेंस रद्द
जानकारी के अनुसार आरबीआई ने सीकेपी सहकारी बैंक लाइसेंस रद्द कर दिया है। जिसकी वजह से बैंक के 11500 जमाकर्ताओं एवं निवेशकों और सवा लाख के करीब खाताधारक फंस गए हैं। जानकारी के अनुसार इस कार्रवाई की वजह से 485 करोड़ रुपए की एफडी भी अधर में लटक गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बैंक का हेड ऑफिस दादर में है। इससे पहले बैंक की नेटवर्थ घटने और घाटा बढऩे की वजह से बैंक की ट्रांतेक्शंस पर 2014 में प्रतिबंध लगाया गया था। बैंक के घाटे को कम करने का प्रयास कई बार किया गया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

यह भी पढ़ेंः- Arogaya Setu App को अनिवार्य बनाने पर अभी नहीं हुआ अंतिम फैसला, जल्द हो सकता है ऐलान

घाटा कम करने के हुए थे प्रसास
इंवेस्टर्स और डिपोजिटर्स की ओर से बैंक के घाटे को कम करने का प्रयास काफी बार किया गया। 2 फीसदी तक ब्याज दरों में कटौती की गई। कुछ डिपोजिटर्स की ओर से अपनी एफडी को शेयर में निवेश भी किया। जिसके बाद बैंक के लिए कुछ बेहतर परिणाम दिखाई दिए। जानकारों की मानें तो कुछ समय में बैंक का घाटा कम हुआ था, लेकिन आरबीआई क कार्रवाई से निवेशकों को बड़ा झटका दिया है।

जानकारी के अनुसार बीते 6 सालों से बैंक प्रतिबंध की अवधि को बढ़ा रहा था। हाल ही में 31 मार्च से अवधि बढ़ाकर 31 मई कर दी गई थी। आपको बता दें कि 2016 में बैंक का नेटवर्थ 146 करोड़ रुपए था। जो मौजूदा समय में बढ़कर 230 करोड़ रुपए हो गया।

rbi
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned