भाजपा विधायक ने ग्राम पंचायत सचिव को बेरहमी से पीटा, किया ये हाल !

भाजपा विधायक ने ग्राम पंचायत सचिव को बेरहमी से पीटा, किया ये हाल !

suchita mishra | Publish: Mar, 14 2018 10:35:09 AM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 03:32:15 PM (IST) Firozabad, Uttar Pradesh, India

गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के नतीजों से पहले सामने आई भाजपा विधायक की गुंडई। गनर के साथ मिलकर ग्राम पंचायत सचिव को बेरहमी से पीटा।

फिरोजाबाद। गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव के नतीजे सामने आने से पहले बीजेपी विधायक की गुंडई का मामला सामने आया है। सत्ता के नशे में चूर भाजपा विधायक रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी ने ग्राम पंचायत सचिव को गनर के साथ मिलकर जमकर पीटा। सचिव का दोष सिर्फ इतना था कि विधायक के बुलावे पर उसने थोड़ी देर में आने की बात कही। इससे विधायक का पारा चढ़ गया और उन्होंने अपने गनर के साथ मिलकर उसे जमकर पीटा। फिलहाल पीड़ित सचिव ने डीएम नेहा शर्मा को घटना के बारे में जानकारी दी है। डीएम ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। सचिव का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया है।

ये है मामला
दरअसल विधायक जसराना रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी ने ग्राम पंचायत सचिव रामचन्द्र को फोन करके कबीर पुरा बुलाया था। सचिव की मानें तो काम में व्यस्त होने के कारण उसने कह दिया कि वह काम समाप्त होने के बाद आ पाएगा। इस बात पर विधायक भड़क गए। कुछ ही देर में वह गाड़ी से पाढ़म पहुंच गए। सचिव रामचन्द्र के अनुसार विधायक और गनर ने आते ही रामचंद्र के साथ मारपीट शुरू कर दी। अचानक खुद पर हमला होते देख वो बुरी तरह सहम गया। उसने विधायक से कई बार पूछा कि आखिर मेरा कसूर क्या है? लेकिन विधायक और उनके गनर ने कुछ बताने के बजाय उसको भद्दी गालियां दीं और जमकर पीटा।

मदद के लिए लगाई गुहार
उसने चीखपुकार कर लोगों को बचाव के लिए पुकारा। विधायक का दबदबा देखते हुए किसी ने भी उसको बचाने का प्रयास नहीं किया। मारपीट करने के बाद विधायक रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी व उनका गनर वहां से चले गए। बाद में वहां काफी लोग एकत्रित हो गए। विधायक के व्यवहार को लेकर सभी हैरान थे। बाद में पीड़ित सचिव ने जिलाधिकारी नेहा शर्मा व एसएसपी डॉ. मनोज कुमार सहित जिले के अन्य अधिकारियों को आप बीती सुनाई। फिलहाल जिलाधिकारी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। मारपीट के दौरान सचिव की आंख के पास काफी चोट आई है। उनका जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया है। सीओ जसराना प्रेमप्रकाश ने जिला अस्पताल पहुंच कर सचिव से पूछताछ की। सीओ का कहना है कि शिकायत के आधार पर मेडिकल कराया गया है। जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएगे उसके अनुसार कार्रवाई जाएगी।

विधायक ने कहा आरोप हैं निराधार
वहीं इस बारे में विधायक रामगोपाल पप्पू लोधी का कहना है कबिल पुरा के लोगों ने ग्राम पंचायत सचिव की शिकायत की थी। मैंने उसको फोन कर बुलाया तो उसने मना कर दिया। मुझसे कहा कि पाढ़म में प्रधान के घर बैठा हूं, वहीं आ जाओ। उन्होंने बताया कि वे वहां पहुंच गए। वहां उनके साथ पाढ़म के ही कुछ युवक भी साथ आ गए। उन्होंने सचिव से बात की तो उसने बदतमीजी कर दी। विधायक का कहना है कि बदतमीजी देख गांव के ही युवकों ने उसके साथ मारपीट की। उन्होंने कहा कि जो आरोप उन पर लगाए गए हैं, वह पूरी तरह से निराधार हैं।

इस मामले में जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने बताया कि सचिव के साथ मारपीट का मामला संज्ञान में आ गया है। फिलहाल घायल का मेडिकल कराया गया है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज होगा। विधायक के दोनों गनरों को लाइन बुला लिया गया है। उन पर भी मारपीट करने का आरोप है। जांच के आदेश दिए गए हैं। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned