इंटरकॉन्टिनेंटल कपः खिताबी रेस में बने रहने के लिए टीम इंडिया को दर्ज करनी ही होगी जीत

इंटरकॉन्टिनेंटल कपः खिताबी रेस में बने रहने के लिए टीम इंडिया को दर्ज करनी ही होगी जीत

Manoj Sharma Sports | Updated: 13 Jul 2019, 02:00:13 PM (IST) फ़ुटबॉल

Indian Football Team को पहले मैच में तजाकिस्तान से मिली थी 2-4 से हार। कप्तान सुनील छेत्री ने ही दागे थे दोनों गोल।

अहमदाबाद। भारतीय फुटबॉल टीम ( indian football team ) शनिवार को इंटरकॉन्टिनेंटल कप के अपने दूसरे मैच में उत्तर कोरिया के खिलाफ जीत हासिल करने के इरादे से मैदान में उतरेगी।

टीम के लिए यह मैच काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर वह यह मैच भी हार गई तो वह फाइनल की रेस से बाहर हो जाएगी।

इससे पहले तजाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में टीम को 2-0 की बढ़त बनाने के बावजूद 4-2 से हार झेलनी पड़ी थी। वैसे कमोबेश उत्तर कोरिया के लिए भी यह करो या मरो का मुकाबला है।

पहले मैच में उसे सीरिया के हाथों 2-5 से हार का सामना करना पड़ा था। अब टीम को फाइनल की रेस में बने रहने के लिए भारत के खिलाफ हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी।

अकेले कप्तान 'पास' बाकि सब 'फेल’-

टूर्नामेंट के पहले मैच में मेजबान टीम की शुरुआत दमदार रही थी। कप्तान सुनील छेत्री ( Sunil Chhetri ) के दो गाले के दम पर भारत ने पहले हाफ 2-0 से बढ़त बना ली थी। हालांकि, दूसरे हाफ मैच पूरी तरह से पलट गया और तजाकिस्तान ने धमाकेदार वापसी करते हुए अप्रत्याशित जीत दर्ज की।

FIFA Football World Cup में सर्वाधिक गोल करने वाली फुटबॉलर बनीं Marta

कोच स्टीमाक ने तजाकिस्तान के खिलाफ संदेश झिंगन, अनस इडाथोडिका और प्रणॉय हल्दर की जगह आदिल खान और अमरजीत सिंह कियाम जैसा युवा खिलाड़ियों को मौका दिया।

पहले हाफ में कोच का यह दांव सही साबित होता हुआ भी दिख रखा था। हालांकि, मुकाबले में मिली हार ने मुख्य कोच को अपनी रणनीति के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया है।

फीफा विश्व कप 2022 के क्वालीफायर की तैयारियों के रूप में इंटरकॉन्टिनेंटल कप जैसे टूर्नामेंट बहुत अहम हैं। ऐसे में भारतीय टीम के सहायक कोच वेंकटेश एस ने माना कि वे लगातार खिलाड़ियों का आंकलन करते रहेंगे और मैच के लिए सही टीम चुनेंगे।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने वेंकटेश के हवाले से बताया, "स्टीमाक के लिए सभी 23 खिलाड़ी बराबर हैं और हमारे पास हर पोजिशन के लिए बहुत सारे खिलाड़ी हैं। हमने देश के सर्वश्रेष्ठ 23 खिलाड़ी चुने हैं, हम हर किसी का उपयोग करना चाहते हैं और यह देखना चाहते हैं कि एक निश्चित स्थिति में वे कैसी प्रतिक्रिया देते हैं।"

एटलेटिको मैड्रिड के लिए खेलेंगे जोआओ फेलिक्स

वेंकटेश ने कहा, "हमारी योजना जाहिर तौर पर जीत दर्ज करने की होगी, चाहे हम किसी टीम का भी सामना करें। मुख्य कोच ने पहले ही कह दिया है कि यह मैच विश्व कप क्वालीफायर की तैयारियों के लिए है और हम खिलाड़ियों पर अधिक दबाव डालना या उन्हें चोट के कारण खोना नहीं चाहते।"

भारत के लिए राहत की बात यह है कि फीफा रैंकिंग में 122वें पायदान पर काबिज कोरिया टीम को भी पहले मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा है। सीरिया ने एकतरफा मुकाबले में कोरिया को 5-2 से रौंदा था। मेहमान टीम के खिलाड़ियों का आत्मविश्वास कम होगा और इसका लाभ भारतीय खिलाड़ी उठा सकते हैं।

पहले मैच में कोरिया की करारी हार यह दर्शाती है कि उसका भी डिफेंस खराब है और अगर छेत्री के नेतृत्व में भारतीय अटैक अपना सर्वश्रेष्ठ देने में कामयाब रहा तो मेजबान टीम चार देशों की प्रतियोगिता में पहली जीत दर्ज कर सकती है।

इस मैच का लाइव प्रसारण रात आठ बजे से स्टार स्पोर्ट्स चैनल पर किया जाएगा। यह मैच स्टार के डिजिटल प्लेटफॉर्म हॉटस्टार पर भी दिखाया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned