UP पत्नी की हत्या और अपने सात बच्चों का गला रेतकर ट्रेन के सामने कूदा सिपाही

मामूली बात को लेकर पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ जिसके बाद सिपाही पति ने पत्नी की हत्या कर दी और बीच में आए अपने सात बच्चों पर भी धारदार हथियार से हमला बोल दिया। इनमें से भी तीन की हालत नाजुक बनी हुई है। वारदात के बाद सिपाही ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।

By: shivmani tyagi

Updated: 15 May 2021, 01:11 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
गाजीपुर ( Ghazipur ) दिलदार नगर थाना क्षेत्र की यह घटना आपके रोंगटे खड़े कर देगी. शनिवार तड़के गृह क्लेश के बाद एक सिपाही ने अपनी पत्नी की हत्या ( murder ) कर दी। मां को बचाने आए सात बच्चों पर भी धारदार हथियारों से हमला बोल दिया। घटना को अंजाम देने के बाद ट्रेन के आगे कूदकर अपनी भी जान दे दी। घर में तड़प रहे घायल बच्चों को पड़ोसियों ने अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में तीन बच्चों की हालत नाजुक बनी हुई है। इस घटना से पूरा गांव दहल उठा।

यह भी पढ़ें: Patrika Positive News : यूपी में लगातार तेजी बढ़ रहा 18+ लोगों का वैक्सीनेशन अभियान, अब 23 जिले में होगा टीकाकरण

घटनाक्रम के अनुसार दिलदार नगर थाना क्षेत्र के गांव ओसिया का रहने वाला 'मुंशी यादव' प्रयागराज थाने में तैनात था। पिछले दिनों मुंशी यादव का तबादला फतेहपुर हो गया था। इस तबादले से वह दुखी था और उसने पुलिस लाइन में आमद कराने के बाद चिकित्सीय परामर्थ के आधार पर मेडिकल लीव ले ली थी। छुट्टी लेकर वह अपने घर आ गया था। बताया जाता है कि किसी बात लेकर शनिवार तड़के पति-पत्नी में विवाद हो गया। 42 वर्षीय मुंशी यादव की 38 वर्षीय पत्नी रीना देवी ने विवाद के बाद पति काे ताना दिया तो गुस्साए पति ने धारदार हथियार से ( wife murder ) पत्नी का गला काट दिया।

यह भी पढ़ें: ब्लैक फंगस से यूपी में तीन की मौत, घबराहट बढ़ी

मां पर हमला होते देख बच्चे चिल्लाने लगे और मां काे बचाने के लिए आगे आए तो गुस्साए पिता ने अपने बच्चों पर भी हमला बोल दिया। इस हमले में 16 वर्षीय बेटी रितु, 13 वर्षीय बेटी नीतू, 10 वर्षीय बेटी वर्षा, 6 वर्षीय बेटी सुधा, दो वर्षीय बेटा कृष्णा और सात वर्षीय बेटा श्याम भी गंभीर रूप से घायल हाे गए। चीख-पुकार की आवाज सुनकर पड़ोस के लोग जग गए और सिपाही के घर पहुंचे। इससे पहले ही आरोपी सिपाही वारदात काे अंजाम देकर फरार हाे गया।

यह भी पढ़ें: राहत भरी खबर, डीएल बनवाने के लिए नहीं लगाने होंगे आरटीओ के चक्कर, जानें नई गाइडलाइन

आनन-फानन में ग्रामणाें ने मिलकर सभी घायल बच्चों को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। इस घटना के बाद सिपाही ने अपने गांव से कुछ ही दूर ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। प्राथमिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि सिपाही त्वचा रोग से पीड़ित था। फतेहपुर थाना प्रभारी कमलेश पाल ने बताया कि त्वचा रोग के कारण ही उसने छुट्टी ली थी। इस घटना के बाद रिश्तेदार घर पहुंचे हैं और पूरे परिवार में काेहराम मचा हुआ है। गांव में इस घटना काे लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं।

यह भी पढ़ें: मेरठ में ब्लैक फंगस की दस्तक : एक संक्रमित की मौत तो एक की निकालनी पड़ी आंख

यह भी पढ़ें: यूपी में बीते 24 घंटें में 312 कोरोनावायरस पाजिटिव की मौत, लखनऊ और मेरठ का आंकड़ा जानेंगे तो चौंक जाएंगे

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned